CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रही महिलाओं पर किया गया लाठीचार्ज

CAA Pretest

उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ बिलरियागंज के मौलाना जौहर अली पार्क में मंगलवार हो कुछ महिलाऐं विरोध प्रदर्शन के लिए एकत्र हो रही थी। यह विरोध प्रदर्शन बुधवार को तड़के हिंसा में बदल गया। इस दौरान पुलिस पर पथराव करने के आरोप में 19 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किये गए लोगों मे उलमा कौंसिल के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना ताहिर मदनी भी शामिल हैं।

एसपी टी. सिंह का कहना है कि “जिले में धारा 144 लागू है। कुछ महिलाएं और बच्चे विरोध प्रदर्शन करने के लिए इकट्ठा हुए थे, जब पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने की कोशिश की तो कुछ उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव किया”। गिरफ्तार किये गए लोगों की रिहाई तथा पुलिस कार्रवाई के विरोध में समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक आलमबदी आजमी, विधायक नफीस अहमद, सपा के निर्वतमान जिलाध्यक्ष हवलदार यादव, राष्ट्रीय उलमा कौंसिल के प्रवक्ता तलहा रशादी ने मिलकर जिलाधिकारी से मुलाकात किया जिसका कोई भी फ़ायदा नहीं हुआ।

CAA व NRC को लेकर लखनऊ में दिखा भारत बंद का असर

आज़मगढ़ के बिलरियागंज में इससे पहले भी दो बार सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए एकत्र हुई थी तब पुलिस ने उनको समझाकर शांत करने में कामयाब रही थी। लेकिन मंगलवार को तीसरी बार फिर यह महिलाएं सुबह 11:00 बजे पहुँच गईं जिनको समझाने की प्रशासनिक कोशिशें नाकाम हो गईं। पुलिस अधिकारियों के समझाने के बाद लौटते तो महिलाएं वापस लौट आटी थीं। आधी रात तक ऐसा ही चलता रहा जिसके बाद पुलिस ने इसे कुछ लोगों के उकसाने का नतीजा समझकर गिरफ्तार करने का प्रयास किया तो हालात बिगड़ गए और इस दौरान पुलिस पर पथराव शुरू हो गया।

पुलिस ने भी जवाब में लोगों पर आंसू गैस के गोले दागे और लाठीचार्ज किया। इसके बाद 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया जिसमे एक महिला भी शामिल है। इस मामले के बाद मौलाना जौहर अली पार्क में पानी भर दिया गया है। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस द्वारा महिलाओं पर लाठीचार्ज किया गया और पथराव के दौरान उनको खदेड़ा गया जिसमे बहुत से लोग घायल हो गए हैं।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here