लखनऊ में इस दिवाली पर कम रहा वायु प्रदुषण

cm yogi

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पिछले साल की तुलना में इस बार वायु प्रदुषण काफी कम रहा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पटाखों को लेकर लोगों से अपील किया था, जिसका असर सोमवार को दिखाई दिया। वायु प्रदुषण के कारण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों को निर्देश दिया था कि दीपावली पर केवल 2 घंटे पटाखे जलाये। इसी वजह से लोगों ने पटाखों से दूरी बनाए रखी और राजधानी लखनऊ में सबसे कम पटाखे जलाए गए।

मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के अधिकारियों को निर्देश दिया था कि लोगों को रात के 8:00 बजे से 10:00 बजे तक ही पटाखे जलाने की अनुमति दी जाए और लाइसेंस धारक पटाखा विक्रेताओं से ही पटाखों की बिक्री कराई जाए। वायु प्रदुषण मापने वाली संस्था सीपीसीबी (CPCB) लखनऊ की 4 जगहों गोमती नगर, अलीगंज, लालबाग और  तालकटोरा औद्योगिक क्षेत्र से वायु प्रदूषण की ऑनलाइन निगरानी करता है।

बातचीत के दौरान लोगों ने बताया कि वायु प्रदूषण का सामना हम लोगों को ही करना पड़ता है जिसके कारण इस बार हमने बहुत कम पटाखे जलाया और वायु प्रदुषण कम रहा। पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने पटाखों को जलाने के लिए समय तय कर दिया था जिसमे रात के 8:00 बजे से लेकर 10:00 बजे तक पटाखे जलाने की इजाज़त दी गई थी। पटाखे बेचने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने 2016 की तुलना में 2017 में सिर्फ 20% लाइसेंस जारी करने का निर्देश दिया था।