प्रमुख सचिव स्वास्थ्य देवेश चतुर्वेदी ने किया सिविल अस्पताल का औचक निरिक्षण

राजधानी लखनऊ में लगातार हो रहे डेंगू से मौत के बाद स्वास्थ्य महकमा अब एक्टिव मोड में नजर आ रहा है। जिसके तहत डेंगू के मरीजों को बेड ना मिलने की शिकायत पर स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने जहां एक तरफ कमान कसी है, वहीं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य देवेश चतुर्वेदी ने आज लखनऊ के सिविल अस्पताल का औचक निरीक्षण किया।

औचक निरीक्षण पर पहुंचे देवेश चतुर्वेदी ने डेंगू वार्ड का निरीक्षण भी किया, साथ ही मरीजों का हाल भी जाना। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने निरीक्षण के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि अस्पतालों में बेड पर्याप्त मात्रा में हैं। साथ ही उन्होंने पाया है कि लगातार जिस तरह की शिकायतें आ रही थी, उसमें अब कमी नजर आ रही है और श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय मैं लोगों को सुचारु रुप से इलाज मिल रहा है। उनके उपचार हेतु समस्त सामग्रियां यहां पर मौजूद हैं।

डेंगू पीड़ितों से मुलाकात करने आये, अश्वनी चौबे पर फेंकी गई स्‍याही

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने कहा कि डेंगू से बचाव और रोगियों की सुचारु रूप से देखभाल करना सरकार का लक्ष्य है और इसमें जो भी कोताही बरतेगा या लापरवाही करता पाया जायेगा, उनके खिलाफ नोटिस भेजकर कार्यवाही की जाएगी। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने प्राइवेट पैथोलॉजी द्वारा जल्द रिपोर्ट ना दिए जाने की शिकायत पर भी एक्शन लेते हुए कहा विभागीय तरीके से ऐसे पैथोलॉजी के खिलाफ जांच की जाएगी। साथ ही अगर वह जांच में दोषी पाया जाता है तो उनका लाइसेंस भी निरस्त किया जा सकता है।