महिला सशक्तिकरण की उड़ाई जा रही है धज्जियां

google

देशभर में महिलाओं की सुरक्षा के दावे लगातार फेल होते नजर आ रहे हैं। जिसके चलते आए दिन अत्याचार और दरिंदगी और रेप जैसे मामले कम होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं और तो और हमारे देश में तो महिलाओं के साथ छेड़छाड़ गैंग रेप जैसे अपराधों का मामला तो बढ़ता ही जा रहा है। ऐसी ही एक घटना बंथरा थाने की समाने आई है।

आपको बता दे की राजधानी लखनऊ के बंथरा थाने में तैनात दरोगा आफताब आलम ने एक महिला से अभद्रता की तथा उससे ,अश्लील बातें करके उसको धक्का दे दिया। कार्यवाही की मांग को लेकर पीड़िता ने पति के साथ एसएसपी आवास पर गई। लेकिन वहाँ एसएसपी से पीड़ित परिवार की मुलाकात नहीं हो सकी। पुलिस का कहना कि शारिक नामक वांछित आरोपी के साथ बाइक से जा रही महिला को रोका गया था। लेकिन बाइक रोकने पर आरोपी भाग गया।

तेलंगाना मर्डर : 4 आरोपी गिरफ्तार, महीने भर में घटी 6 बड़ी वारदातें

इस कारण केवल महिला से भाग जाने वाले आरोपी के बारे में पूछताछ की गई। उसके साथ कोई अभद्रता नहीं की गई है। लेकिन पीड़िता का कहना है की वह अपने 14 वर्षीय बेटे के साथ डॉक्टर के यहां ब्लेड प्रेशर की जांच करवाने पैदल जा रही थी। देखा जाये तो एक तरह से अपनी ही बनाई कहानी में राजधानी पुलिस उलझती जा रही है। क्योकि पुलिस ने बेटे के साथ वॉक कर इलाज कराने जा रही महिला को वांछित आरोपी का स्नरक्षणकर्ता बताया है।