UP : महिला संरक्षण की बातें और दहेज़ के चलते गई महिला की जान!

Source - Google

UP : दहेज़ प्रथा, कुप्रथा है ये हर कोई जनता है और हर किसी के लिए ये कानून भी बना है कि दहेज़ के लोभियों को शख्त सजा मिलनी चाहिए। लेकिन आज भी दहेज़ कि मांग की वजह से कई लड़कियां परेशान होती है। ससुराल से दहेज़ की मांग की जाती है और जब लड़की से मन माना दहेज़ नहीं मिलता तो मारपीट की जाती है या घर से निकल देते है और कभी तो जान से भी मार देते हैं।

ऐसी ही एक मामला मुरादाबाद से आया जहां पिछले 2 दिन से महिला आयोग ने डेरा डाल रखा है लेकिन फिर भी दहेज़ के चलते शादीशुदा एक बच्चे की माँ की जान चली गई। मुरादाबाद के सर्किट हाउस में 2 दिन से महिला संरक्षण के लिए मीटिंग की जा रही है और दूसरी तरफ किसी की मौत हो रही है।

आपको बता दें, रहमान ने अपनी लड़की की शादी करीब दो वर्ष पूर्व भूरा से की थी। शादी के कुछ दिनों बाद से ही ससुराल वालों ने लड़की से एक लाख रुपए और मोटरसाइकिल की मांग करने लगे लेकिन लड़की ने जब मना किया तो ससुरालियों ने विवाहिता को बहुत पीटा और बुरा हाल कर दिया। ससुराल पक्ष के लोग उसके साथ दहेज की मांग करते थे और मारपीट करते थे वही महिला की पिटाई के कारण हालत खराब होने के बाद लड़की अपने मायके ठिकरी चली आई।

परिवार वालों ने भोजपुर पीपलसाना क्षेत्र के कई पुलिसकर्मियों से और थानाध्यक्ष से शिकायत की थी मगर अत्याचार करने वालो के ऊपर कोई कार्यवाही नहीं की जिसकी वजह से महिला डिप्रेशन में चली गई। महिला का इलाज कराया जा रहा लेकिन अंदरूनी चोटें होने के कारण इलाज के दौरान ही महिला की मौत हो गई। अब देखना यह होगा कि पुलिस इन दहेज लोभियों पर क्या कार्यवाही करती है। महिलाओं के सम्मान की और सुरक्षा की बात करें तो यहां पर सभी फेल होती नजर आ रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here