CAA तथा NRC के खिलाफ घंटाघर पर आज भी धरना दे रही हैं महिलाएं

CAA Protest
goolge

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के घंटाघर पर नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के विरोध में महिलाएँ आज भी बैठी हुई हैं। यह महिलाएं 17 जनवरी से लगातार धरना दे रही हैं और आज इसका एक महीना पूरा हो चुका है। एक महीने बाद भी यह महिलाएं हटने के लिए तैयार नहीं हैं। दरअसल जब से केंद्र सरकार ने यह कानून पास करवाया है तब से इसके खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है।

इसी साल जनवरी की 17 तारीख से कुछ घरेलू महिलाओं ने यहाँ पर प्रदर्शन शुरू किया था जिसमे करीब 15 से 20 की संख्या में घरेलू महिलायें शामिल थी। राजधानी लखनऊ में तीन दिनों तक लगातार हुई बारिश के बाद यह महिलाएं अचानक घंटाघर पहुंच गई और सीएए तथा एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन करने के लिए धरने पर बैठ गई थीं। उस समय शायद ही कोई कह सकता था कि यह धरना इंटने दिनों तक चलेगा और इतना बड़ा हो जाएगा। इस धरने का एक महीना पूरा होने पर आज घंटाघर पर विशेष प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन भी किया गया है।

CAA का विरोध कर रही महिलाओं ने समझने आये सदस्यों पर फेंकी चूड़ियां

धरना प्रदर्शन में दिए गए यह नारे

किसी भी आंदोलन को बढ़ाने के लिए प्रदर्शनकारियों का उत्साह बना रहना बहुत ज़रूरी होता है। इसी उत्साह को बढ़ाने के लिए घंटाघर पर यह नारे हमेशा लगाए जाते रहते हैं।

  • ये देश हमारा आपका, नहीं किसी के बाप का
  • घंटाघर से उठी आवाज, नहीं चलेगा गुण्डाराज
  • गांधी के वास्ते अम्बेडकर के रास्ते
  • दादा लड़े थे गोरों से…हम लड़ेंगे चोरों से
  • मरना ही मुद्दर है तो फिर लड़ के मरेंगे, खामोशी से मर जाना मुनासिब नहीं होगा
  • ये जंग जीतेंगे अबकी बार, ये एलान हमारा है
  • घण्टाघर ने ललकारा है कागज नहीं दिखाना है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here