अस्पताल के प्रबंधक पर महिला ने लगाया छेड़खानी का आरोप

image suorce-google

उत्तर प्रदेश में स्थित संजय गांधी अस्पताल से एक अश्चार्यजनक खबर सामने आयी है।बता दे की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ,राहुल और प्रियंका की देखरेख में चलने वाले संजय गांधी अस्पताल के प्रबंधक पर एक दलित महिला ने छेड़खानी सहित कई गंभीर आरोप लगाए हैं। महिला सफाई कर्मी का यह आरोप बहुत ही चौकाने वाला है। महिला ने बताया है की अस्पताल के प्रबंधक भोला तिवारी ने उसे मारा पीटा और छेड़खानी की। इतना ही नहीं महिला ने प्रबंधक पर शारीरिक संबंध बनाने के दबाव का भी आरोप लगाया है।

अधेड़ ने 15 साल की नाबालिग से निकाह कर, कराया धर्म परिवर्तन।

पीड़ित महिला कहना है की वह अस्पताल के प्रबंधक की शिकायत व उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने मुंशीगंज थाने में गई थी। लेकिन उसकी बात पर किसी ने भी ध्यान नहीं दिया। जब किसी ने उसकी बात पर कोई ध्यान नहीं दिया तो उसने इस सम्बन्ध में थाना अध्यक्ष मुंशीगंज और क्षेत्राधिकारी गौरीगंज पर आरोप लगाया की कोई भी उसकी बात को नहीं सुन रहा है और ना ही एफआईआर दर्ज कर रहे है।

बता दे की संजय गांधी अस्पताल वहीं संस्था है जहां से गाँधी परिवार अपनी राजनैतिक सियासत करता रहा है। लेकिन कुछ समय से अस्पताल में कर्मचारियों और प्रशासन के बीच टकराव चल रहा है। कर्मचारियों से निपटने के लिए संजय गांधी मेमोरियल ट्रस्ट के प्रशासक मनोज मटटू ने स्थानीय भोला तिवारी को अस्पताल का प्रबंधक बना दिया गया।जिसके चलते वहाँ पर विवाद के हालात और गंभीर हो गए है।

पीड़ित महिला ने कहा साफ-साफ शब्दो में कहा कि पुलिस कप्तान के दरवाजे न्याय मांगने आई हूँ। अगर यहा भी इंसाफ नही मिला तो सांसद स्मृति ईरानी और मुख्यमंत्री से भी मिलने जाऊगी। उधर संजय गांधी अस्पताल के प्रबंधक भोला तिवारी ने कहा कि उन्हें बदनाम करने की कुछ लोग साजिश कर रहे हैं। और यह महिला उन्हीं कहने पर ये सब कह रही है। उन्होंने कहा की उनके ऊपर महिला द्वारा लगाये जा रहे ये आरोप गलत है।