Mirzapur निवासियों को ही नहीं पसंद आई मिर्ज़ापुर वेब सीरीज.. आखिर क्यों?

    Mirzapur 2 in controversy
    Mirzapur 2 in controversy

    अमेज़न प्राइम द्वारा एक वीडियो डाला गया था जिसमे Mirzapur का वर्णन कुछ इस प्रकार था, ‘यहाँ हवाओं में कस्तूरी नहीं कारतूस की महक है, कोयल से ज्यादा कबूतरों की चहक है| होली में गाल पर अलग तरह का भाईचारा छप जाता है, शादियों में बैंड, बाजे वाला नहीं, बिन बुलाया बाराती बैंड बजाता है, कब तक रहोगे बोरियत के सुर में, कुछ दिन तो गुज़ारो मिर्जापुर में|’ मिर्ज़ापुर के पहले सीरीज के बाद जब दूसरा सीजन आया हैं तो जहाँ पूरी दुनिया इस धमाकेदार वेब सीरीज की तारीफे कर रही थी, वहीँ मिर्ज़ापुर निवासी नाराज़गी जताते नज़र आए हैं|

    भले ही सीरीज के सभी पात्र और घटनाएं काल्पनिक हैं, लेकिन फिर भी सीजन 2 आखिर विवादों में आ गया हैं| हालाँकि पहले ही मान लिया गया था कि यह सीजन विवादों में घिर सकता हैं, जो कि अब सही साबित हो रहा हैं| यहाँ तक कि मिर्ज़ापुर के आम नागरिक के अलावा वहां की सांसद अनुप्रिया पटेल ने भी मिर्जापुर 2 वेब सीरीज पर सवाल खड़े किये हैं| ज़ाहिर हैं मिर्ज़ापुर के निवासी और अनुप्रिया पटेल ने इस सीरीज पर आपत्ति जताई हैं और इसकी जांच और कार्रवाई की मांग भी की है|

    वेब सीरीज पर नाराज़गी की वजह

    क्या आपको पता हैं कि जहाँ इस वेब सीरीज ने हर शहर के लोगो के दिल में तहलका मचा दिया, लेकिन जिस शहर पर बनी यह सीरीज, वहीं के लोग आखिर क्यों इसे पसंद नहीं कर रहे हैं? क्यों नाराज़गी जता रहे हैं| दरअसल इस वेब सीरीज का लोगो पर इतना क्रेज हैं कि दूसरा पार्ट आने के बाद इसका रिव्यु किया गया, जो मिर्ज़ापुर शहर में भी किया गया, रिव्यु के दौरान ही पता चला कि मिर्ज़ापुर निवासी इस सीरीज से बिलकुल सहमत नहीं हैं, और पूरी तरह इसको झूठा बता रहे हैं| उनका कहना कि जिस प्रकार से शो में मिर्ज़ापुर शहर को दिखाया गया हैं वह बिलकुल भी वैसा हैं ही नहीं, उससे एकदम अलग हैं| सीरीज के माध्यम से हमारे शहर को बदनाम किया जा रहा हैं|

    उनका कहना हैं कि शो में इतना वायलेंस दिखाया गया हैं, गुंडागर्दी और गाली गलौज जिससे नस्लीय भेदभाव उत्पन्न होगा| लोग मिर्ज़ापुर शहर में आने से डरेंगे| यह हमारे जनपद को बदनाम करने की साजिश हैं| हम इससे बिलकुल भी सहमत नहीं हैं| गौरतलब है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री और मिर्ज़ापुर की सांसद अनुप्रिया पटेल सीरीज के निर्देशक द्वारा मिर्जापुर की छवि खराब करने से बेहद नाराज़ हैं और उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यू.पी. के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ट्वीट कर इस सीरीज की जाँच और इस पर कार्रवाई करने की भी मांग की हैं|

    Mirzapur की शूटिंग ज्यादातर यू.पी. में हुई

    दिलचस्प बात यह हैं कि मिर्ज़ापुर सीरीज की ज्यादातर शूटिंग मिर्ज़ापुर शहर में हुई नहीं हैं, बल्कि यू.पी. के वाराणसी, गोरखपुर और लखनऊ में हुई हैं| और सीरीज ने जिस तरह का कंटेंट परोसा हैं वैसा इतिहास तो मिर्ज़ापुर का कभी रहा ही नहीं, साथ ही न कभी इस तरह से मिर्ज़ापुर का कोई क्राइम बाहर आया हैं| तो क्या मिर्जापुए निवासियों का गुस्सा जायज़ हैं, आपको क्या लगता हैं?

    Mirzapur एक धार्मिक स्थल हैं

    आपको बता दे मिर्ज़ापुर एक धार्मिक स्थल हैं| भारत के प्रमुख हिन्दू तीर्थ स्थलों में से एक विंध्याचल धाम मिर्ज़ापुर में बसता हैं| लाखो भक्त वहां माँ के दर्शन के लिए जाते हैं| इसके अलावा यहाँ कालीखोह मंदिर, सीताकुण्ड, लाल भैरव मंदिर, चुनार का किला, विंध्यवासिनी मंदिर, मोती तालाब, अष्टभुज मंदिर और तारकेश्‍वर महादेव आदि स्थित हैं, और प्रसिद्ध हैं| वहां के लोगो ने यही कहा हैं जो जगह इतनी धार्मिक हैं, उसको यूँ बदनाम किया जा रहा हैं|

    Mirzapur वेब सीरीज की कहानी में पूर्वांचल के एक बाहुबली डॉन अखडानंद त्रिपाठी (कालीन भैया) को मिर्जापुर शहर का दिखाया गया है। सीरीज में पंकज त्रिपाठी, अली फजल, दिव्येंदु शर्मा, श्वेता त्रिपाठी, ईशा तलवार, कुलभूषण खरबंदा और रसिका दुग्गल जैसे कलाकारों ने मुख्य भूमिकाएं निभाई हैं।

    अधूरा रह गया हैं Mirzapur 2? इन वजहों से आएगा सीजन 3

     

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here