जिनपिंग ने सेना से क्यों कहा ? युद्ध के लिए तैयार रहो !

भारत के साथ जारी सीमा विवाद के बीच चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपनी सेना को किसी भी वक़्त युद्ध के लिए तैयार रहने का आदेश जारी किया है। शी जिनपिंग ने अपने संबोधन में सेना को ज़्यादा से ज़्यादा युद्ध-अभ्यास करने के आर्डर दिए। जिनपिंग के मुताबिक अपने अपनों दुश्मन के हमले का इंतजार नहीं कर सकते। बल्कि हमारी तैयारी उनसे कई कदम आगे की होनी चाहिए। सेना को निकटम भविष्य में किसी भी वास्तविक स्तिथि का सामना करना पड़ सकता है।

शी जिनपिंग ने सेना से अधिक तकनीक का इस्तेमाल करने की सलाह दी है। उन्होंने ने कहा एडवांस्ड सैन्य तकनीक अपनाने से हम अपनी सेना को दुश्मनो के मुकाबले ज्यादा ताक़तवर बना सकते हैं। और उन्हें बेहतर युद्ध लड़ने के लिए तैयार कर सकते हैं। दुनिया भर के देश आज एडवांस्ड टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल युद्ध लड़ने के लिए कर रहे हैं , हम दुनिया को बता देना चाहते हैं कि चीन की सेना दुनिया की सबसे ताकतवर सैन्य संगठन है। हमे कम आंकने वालों को वक़्त आने पर माक़ूल जवाब दिया जायेगा।

सेंट्रल मिलिट्री कमीशन का प्रमुख बनाये जाने के बाद से शी जिनपिंग लगातार सेना को युद्ध के लिए तैयार कर रहे हैं। शी जिनपिंग चीन के राजनैतिक इतिहास में Mao Tse-tung के बाद दूसरे सबसे ताकतवर नेता हैं। शी जिनपिंग चीन के राष्ट्रपति होने के साथ साथ, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ चीन के अध्यक्ष भी हैं। और चीन की आर्मी कम्युनिस्ट पार्टी की आर्मी है। जो पार्टी अध्यक्ष को डायरेक्ट रिपोर्ट करती है। इस तरह से पुरे चीन का कंट्रोल शी जिनपिंग ने अपने हाथों में ले रखा है। बिना शी जिनपिंग के इजाज़त के चीन में एक पत्ता तक नहीं डोलता।

शी जिनपिंग के इस बयान पर अभी तक भारत सरकार से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई है। सेना की तरफ़ से भी कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here