Virus क्या होता है और ये कितने प्रकार के होते हैं ?

virus and its types
Images source- Google

एक virus बहुत ही छोटा या सूक्ष्म होता है जिनको हम अपनी आँखों से देख नहीं सकते। बहुत से वैज्ञानिको का ये मानना है कि वायरस निर्जीव होते हैं लेकिन वो इस प्रकार के organic matter से बने होते है जो अपनी बहुत सारी copies बना सकने में क़ाबिल होते हैं। एक virus का बाहरी हिस्सा एक प्रोटीन की लेअर से बना होता है जिसके अंदर या तो DNA या RNA या दोनो ही होते है ओर साथ ही enzyme भी होता है जिसकी मदद से virus अपनी नई कापी बनाता है।

Virus क्या होता है 

वायरस एक biological agent होता है जो किसी भी जीवित कोशिका के सम्पर्क में आते ही अपनी नई copies बनाने लगता है। वायरस हर जगह पाया जाता है हमारी surroundings से ले कर हमारी खाने पीने वाले समान तक। यानी की हम पूरी ज़िंदगी हज़ारों प्रकार के virus or bacteria से घिरे रहते हैं। इस दुनिया में हर प्रकार के जन-जीवन को infect करने के लिए एक अलग प्रकार का वाइरस या bacteria ही जिम्मेदार होता है।

यानी की virus में एक प्रकार की genetic information होती है जिसकी मदद से वो किसी भी जीवित cell या कोशिका को अपना शिकार बना के अपने जैसे कई वाइरस का निर्माण करता है। Cell या कोशिका जीवन की सबसे छोटी इकाई होती है। जिनका कार्य प्रोटीन manufacture करना, DNA की नई copy बनाना ओर साधन जुटाना है। जो की किसी भी प्रकार के virus के लिए एक अच्छा शिकार होते हैं , ओर जब किसी कोशिका पे कोई भी virus अटैक करता है तो वो उस cell या कोशिका से मनचाहा काम करा सकता है।

इन देशों में coronavirus के सबसे ज्यादा मरीज,भारत में भी बढ़ी संक्रमितों संख्या

ये किसी भी cell को hack या hijack करने जैसा है। एक virus अपने बाहरी प्रोटीन की परत को किसी भी सेल के साथ जोड़ने के लिए इस्तेमाल करता है। एक बार किसी भी cell से जुड़ने के बाद virus काफ़ी सारे तरीक़ों को आज़मा के ये सुनिश्चित करता है कि cell virus के genetic material को ऐक्सेप्ट कर ले या पूरे virus को ही प्रवेश की अनुमति दे दे। एक बार virus के cell में प्रवेश होते ही वायरस पूरे cell को hijack कर लेता है ओर cell से अपने DNA या RNA के मुताबिक़ प्रोटीन ओर DNA/RNA बनाना शुरू कर देता है।

जब virus की संख्या काम भर की बढ़ जाती हे तो वो cell के बाहर आ जाते हैं। जबकि virus सिर्फ़ इंसान को बीमार करने के लिए ही नहीं बल्कि पेड़ पौधों ओर इंसानो को ठीक करने में भी प्रयोग में लाए जाते हैं। जबकि कुछ वैज्ञानिको का ये भी मानना है कि हज़ारों साल पहले किसी virus द्वारा एक bacteria पे अटैक के बाद ही पहली जीवित कोशिका का निर्माण हुआ था।

Virus कितने प्रकार के होते हैं ?

वैसे तो हमारे इर्द गिर्द लाखों करोड़ो की तादाद में वायरस है लेकिन अभी तक हम 5000 प्रकार के वायरस की ही जाँच कर पाए हैं। एक वायरस हर प्रकार के कोशिकाएं जन जीवन को प्रभावित करता है, जबकि वायरस पूरे ब्रह्मांड में व्याप्त हैं और हर वायरस की अपनी अलग श्रेणी है जिसके बिना पे ये निर्धारित होता है की एक वायरस किस नस्ल को प्रभावित कर सकता है। यंहाँ पे नस्ल से हमारा मतलब है पशु, पक्षी, प्राणी, पेड़ एवं पौधे । जिसके आधार पे वाइरस की श्रेणी निर्धारित की जा सकती है।

1- Animal Virus 

वायरस पशुओं में रोगजनक स्थिति उत्पन करने में एक अहम भूमिका निभाते हैं, यानी की इंसानों ओर पशु पक्षियों को बीमार कर सकने की क्षमता रखने वाले वायरस को Animal Virus कहते हैं। उदाहरण के तौर पे :- FLUE, N1H1, bird flue, corona ये सब ऐसे वाइरस हैं जो किसी भी पशु, पक्षी और इंसान को बहुत बीमार कर सकते हैं।

Coronavirus : स्वास्थ्य विभाग ने COVID-19 को लेकर जारी किया आंकड़े

2- Plant Virus

Plant virus कई प्रकार के होते हैं , ये वाइरस ज़्यादातर फ़सल की पैदावार को ही प्रभावित करते हैं, और इनको नियंत्रित करना आर्थिक दृष्टिकोण से बिलकुल भी मुनासिफ़ नहीं होता है। Plant वायरस एक plant से दूसरे plant में ऐसे जीवों से फैलाया जाता है जिन्हें विज्ञान जगत में वेक्टर कहा जाता है। वेक्टर यानी की मोटे तौर पे छोटे कीट पतंगे जबकि इनमें फ़ंगस, worms ओर एक कोशिका वाले जीवों को भी स्थान दिया गया है।

3- Bacterial Virus

Bacteriophages सामान्य और विविध Viruses का समूह है जो की जलजीवन में प्रचुर मात्रा मैं पाए जाते हैं। समुद्र में bacteria के मुक़ाबले 10 गुना ज़्यादा वायरस पाए जाते हैं जो की कम से कम 25 crore Bacteriophages हर मिलिलिटेर समुद्री जल में होते हैं। इस प्रकार के वायरस सिर्फ़ bacteria पे ही अटैक करते हैं।

4- Archaeal Virus

कुछ वायरस अपनी जनसख्या Archaeal के अंदर ही बढ़ाते हैं, archaeal एक प्रकार का एक कोशिका वाला सूक्ष्म जीव होता है जिसके अंदर nuclie नहीं होता है इसलिए इनको bacteria से अलग श्रेणी में रखा गया है।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + thirteen =