विकास दुबे को शरण देने वालों पर पुलिस ने कसा शिकंजा, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

https://twitter.com/ANINewsUP/status/1281776018496212992?s=19

vikas dubey case update: 5 लाख के इनामी कुख्यात अपराधी विकास दुबे को पुलिस ने 9 नवंबर को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार किया था और कानपुर से आते समय भागने की कोशिश करने पर पुलिस में उसका एनकाउंटर कर दिया था। जिसके बाद से लगातार सवाल उठ रहे थे कि विकास दुबे यूपी कानपुर से उज्जैन कैसे और किसके सहयोग से पहुंचा। इसी कड़ी में अब पुलिस सहयोगियों की धरपकड़ कर रही है।

अब यूपी पुलिस विकास दुबे पर कार्यवाही पूर्ण करने के बाद शरण देने वालों पर शिकंजा कस रही है। आज शनिवार को पुलिस ने एमपी ग्वालियर के रहने वाले ओम प्रकाश पांडे व अनिल पांडे को पकड़ा है। इन दोनों पर शशिकांत पांडे और शिवम दुबे को अपने घर में छुपाने का आरोप लगा है। बता दें यह दोनों कानपुर कांड में आरोपी थे।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद फिर उठे सवाल

वहीं अब विकास दुबे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने के बाद पुलिस पर और सवाल खड़े होने लगे हैं। क्योंकि विकास दुबे को तीन गोलियां लगी थी। दो गोली उसके सीने में और एक कमर में। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार तीनों गोलियां विकास दुबे शरीर के आरपार हो गई थी। यानी गोली बहुत नजदीक से मारी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here