Uttar Pradesh: इन 5 IPS को दिया गया अतिरिक्त प्रभार

Uttar Pradesh Special Security Force

उत्तर प्रदेश में 5 आईपीएस को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। गृह विभाग के द्वारा जारी किए गए ट्रांसफर में सुरक्षा बल की शाखाओं में यह प्रभार सौंपा गया है। ट्रांसफर किए गए आईपीएस में पीएसी में तैनात 5 अफसरों को विशेष सुरक्षा बल की शाखा की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

योगी सरकार के द्वारा सितंबर 2020 में गठित किये गए एक विशेष सुरक्षा बल में अफसरों को तैनात कर दिया गया है। जिसकी तैनाती औद्योगिक प्रतिष्ठानों में होगी औद्योगिक प्रतिष्ठानों, हवाई अड्डों, मेट्रो, कोर्ट जैसे स्थानों की सुरक्षा के लिए फोर्स गठित किया गया। इस विशेष बल को बिना वॉरंट किसी की तलाशी लेने और गिरफ्तार करने तक की छूट दी गई हैं।

इन पांच अफसरों को मिला अतिरिक्त प्रभार

2010 बैच के आईपीएस जयप्रकाश को 32वीं वाहिनी पीएससी के साथ 01 वाहिनी विशेष सुरक्षा बल सुरक्षा लखनऊ में प्रभार दिया गया है। 2010 बैच के आईपीएस कुंटल किशोर को 26वी वाहिनी पीएसी के साथ दो वाहिनी विशेष सुरक्षा बल गोरखपुर का प्रभार सौंपा गया है। 2015 बैच के आईपीएस अविनाश पांडे को 4 वाहिनी पीएसी प्रयागराज के साथ तीन वाहिनी विशेष सुरक्षा बल प्रयागराज का प्रभार सौंपा गया है। 2010 बैच के आईपीएस संजय सिंह को 45वीं पीएसी अलीगढ़ के साथ 4 वाहिनी विशेष सुरक्षा बल मथुरा का प्रभार सौंपा गया है। 2011 बैच के आईपीएस सूर्यकांत त्रिपाठी को 44वीं पीएसी मेरठ के साथ 5 वाहिनी विशेष सुरक्षा बल सहारनपुर का प्रभार सौंपा गया है।

क्या है अधिकार विशेष सुरक्षा बल के पास

उत्तर प्रदेश स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स के नाम से गठित इस नई फोर्स का नेतृत्व एडीजी स्तर का अधिकारी करेगा। यह बल किसी ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार कर सकेगा जो उसे प्रतिष्ठानों की सुरक्षा के दौरान कर्तव्यों का पालन करने से रोकता है, वहां हमला करने, हमला करने की धमकी देने, आपराधिक बल का प्रयोग करने की कोशिश करता है। इसके लिए बल के सदस्यों को किसी मैजिस्ट्रेट के वॉरंट की जरूरत नहीं होगी। संदेह के आधार पर बिना वॉरंट तलाशी भी ली जा सकेगी। हालांकि गिरफ्तारी के बाद वरिष्ठ अधिकारियों को जानकारी देनी होगी और गिरफ्तार व्यक्ति को थाने के हवाले करना होगा। शुरुआत में फोर्स में 9919 कर्मी होंगे।

UP: नए DGP के लिए केंद्र जल्द लेगा फैसला, रेस में इन 3 आईपीएस के है नाम

अवनीश अवस्थी ने कहा कि इस विशेष सुरक्षा बल में 9,919 कर्मी होंगे। शुरुआत में इसकी 5 बटालियन होंगी, जिस पर एक साल में 1747 करोड़ रुपये खर्च होगा। पीएसी का इंफ्रास्ट्रक्चर भी इसमें शेयर किया जाएगा। बुधवार को विशेष सुरक्षा बल में पांच अफसरों को तैनाती की गई हैं।

चार डीएसपी की हुई तैनाती

मुरादाबाद में तैनात डीएसपी बलराम को गाजीपुर जिला भेजा गया है इसके अलावा राजीव द्विवेदी को गाजीपुर से एटीएस उत्तर प्रदेश लखनऊ में तैनाती दी गई है। आतिश कुमार सिंह को सुरक्षा मुख्यालय लखनऊ से एटीएस में तैनाती दी गई है। इसके अलावा शंकर प्रसाद को पीएसी लखनऊ से सुरक्षा मुख्यालय उत्तर प्रदेश लखनऊ में तैनाती दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here