ट्रंप ने कहा,दोनों देश तैयार तो मैं मध्यस्थता करना चाहूंगा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने जम्मू कश्मीर को लेकर सोमवार को फिर से मध्यस्थता की बात कही। जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद से ट्रम्प कई बार मध्यस्थता करने की बात कह चुके है पर भारत इसके लिए तैयार नहीं है। प्रधानमंत्री सहित ये बात बीजेपी के कई बड़े नेता बोल चुके है और यह बात ट्रम्प भी भली भातिं जानते है । तभी कई बार ट्रम्प अपने मध्यस्थता वाले बयान से पीछे हटते नजर आये।

बीते सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जम्मू कश्मीर मुद्दे पर बात करते हुए कहा कि यदि दोनों देश चाहेंगे तो मैं मध्यस्थता करने को तैयार हूं। मेरे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बहुत अच्छे संबंध हैं और इमरान खान के साथ भी। आगे ट्रंप ने कहा की मैं एक बहुत अच्छा मध्यस्थ बनूंगा मैं कभी भी मध्यस्थ के तौर पर असफल नहीं हुआ अगर मैं मदद कर सकता हूं तो जरूर करूंगा।

HOWDY MODI:अमेरिका में अबतक का सबसे बड़ा प्रोग्राम, लगी हैं दुनिया भर की निगाहें…

Howdy Modi कार्यक्रम का जिक्र करते हुए ट्रंप ने कहा की मैंने कार्यक्रम में मोदी के बेहद आक्रामक बयान को सुना और एनआरजी स्टेडियम में मौजूद हजारों लोगों में भी बहुत उत्साह और जोश दिखा। यह सब ट्रंप में इमरान खान के सामने बोला। आपको बता दें की हृयूस्टन शहर में आयोजित Howdy Modi मोदी कार्यक्रम में 50 हजार लोग मौजूद थे और यह कार्यक्रम एनआरजी स्टेडियम में आयोजित किया गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Howdy Modi कार्यक्रम में पाकिस्तान का नाम लिए बिना पाकिस्तान पर हमला बोला की अमेरिका में 9/11 हो या भारत में 26/11 दोनों के गुनाहगार कहा पाए जाते हैं। आगे प्रधानमंत्री ने कहा कि अब आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ने का समय आ गया है। धारा 370 को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा की हम जो भारत में करते हैं उससे उन लोगों को तकलीफ होती है,जिनसे खुद का देश नहीं संभाला जाता।