सिद्धार्थनगर: वोटर लिस्ट में बड़ी गड़बड़ी, दर्जनों लोगों के नाम वोटर लिस्ट…

voter list disturbances
image source - google

सिद्धार्थनगर जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव तीसरे चरण में होना है। पंचायत चुनाव के लिये नामांकन की प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है। लेकिन जो मामला वोटर लिस्ट को लेकर देखने को मिल रहा है वो काफी चौकाने वाला है। जिले के बाँसी ब्लॉक के ग्राम पंचायत तिघरा, असिधवा, आमामाफी सहित आधा दर्जन गांवों के वोटर लिस्ट में बड़ी खमिया देखने को मिल रही है।

नामांकन के कुछ दिनों पहले 2021 की वोटर लिस्ट जो ग्रामीणों को दी गयी उसमें तो सभी लोगो के नाम थे। लेकिन अब आखिरी समय मे अपमार्जन, विलोपन की लिस्ट जारी की गयी है उसमें कई गांवों के सैकड़ो तो कई गांवों में दर्जनों लोगों के नाम वोटर लिस्ट से काट दिये गये है। जिन लोगो के नाम काटे गये है उनमें से कई प्रधान पद के प्रत्याशी व ग्राम पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशी भी है। इन गाँवो के लोग अब अपना नाम वोटर लिस्ट में फिर से जोड़वाने के लिये उपजिलाधिकारी बाँसी को अपने प्रमाण के साथ प्रार्थना पत्र दिया है।

क्या कहा लोगों ने

बाँसी ब्लॉक के तिघरा ग्राम पंचायत के लोगो का कहना है कि उनके गांव के 346 का नाम गलत तरीके से काट दिया गया है।जिनमे दो लोग ग्राम प्रधान पद के प्रत्यशी भी है।असिधवा गांव के लोगो का कहना है कि उनके गांव से भी करीब दो दर्जन लोगों का नाम गलत तरीके से आखिरी समय मे काट दिया गया जो वोट देने के लायक है और जिंदा है।जबकि कई मृतकों के नाम आज भी वोटर लिस्ट में है।

आमामाफी गांव में तो ग्राम प्रधान पद के प्रत्याशी के परिवार के लोगो का नाम ही वोटर लिस्ट से काट दिया गया है।बताते चले वोटर लिस्ट में मृतक व गलत तरीके से दर्ज नामो को काटने व नये वोटरों का नाम जोड़ने के लिए बीएलओ की नियुक्ति की जाती है लेकिन फिर भी इस तरह की लापरवाही देखने को मिल रही है।उपजिलाधिकारी बाँसी जग प्रवेश ने बताया कि वोटर लिस्ट से नाम कटने की शिकायतें आ रही है लेकिन अब साइट बन्द हो चुकी है ऐसे में नाम तो नही बढ़ पायेगा।

सीएम योगी के स्वास्थ्य लाभ के लिए की गई विशेष पूजा-अर्चना, मंदिरों में लागू हुए नियम

लेकिन इन गांवों में जांच करवायी जाएगी और अगर गलत तरीके से नाम काटे जाने की शिकायत सही मिली तो संबंधित जिम्मेदारों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी। ऐसे में सवाल ये है कि आखिर जब एक बार वोटर लिस्ट जारी कर दी गयी तो आखिरी समय मे अपमार्जन या विलोपन कर लिस्ट जारी करना किस हद तक सही है। ऐसे में अब वोटर लिस्ट से जो नाम आखिरी समय मे कट गये है उनका नाम जब वोटर लिस्ट में दर्ज नही हो पायेगा तो भारत देश रहने के बावजूद भी उनको उनके मताधिकार से वंचित करने वालो के खिलाफ क्या कार्यवाही होती है ये देखना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here