पलायन कर रहे मजदूरों और श्रमिकों के लिए प्रदेश सरकार ने उपलब्ध कराई 1000 बसें

up government aranged bus
image source - google । image by latestly

लॉकडाउन की वजह से इस समय सबसे ज्यादा श्रमिक और मजदूर परेशान हैं। क्योंकि लॉकडाउन से सभी कामकाज व यातायात बंद है और इनके पास न पैसे हैं और न ही घर जाने के लिए साधन। जिसकी वजह से इनको सैकड़ों किलोमीटर की दूरी पैदल ही तय करनी पड़ रही है पर अब उत्तर प्रदेश सरकार ने इन को राहत देने वाला एक बड़ा फैसला किया है। सरकार ने दिल्ली – उत्तर प्रदेश बॉर्डर पर पलायन करने वाले श्रमिकों और मजदूरों के लिए 1000 बस उपलब्ध कराई दी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पलायन कर रहे लोगों के लिए उचित व्यवस्था करने के लिए कल रात में मीटिंग बुलाई और रात भर में बुलंदशहर, नोएडा, हापुड़, गाजियाबाद, अलीगढ़, बनारस, कानपुर, गोरखपुर, बलिया, बस्ती, आजमगढ़, प्रतापगढ़, फैजाबाद, अमेठी, रायबरेली, सुल्तानपुर, बहराइच, गोंडा, इटावा, श्रीवस्ती आदि इलाकों में 1000 बसों को उपलब्ध कराया है। इसके साथ ही सीएम ने इनके खाने पीने की व्यवस्था भी कराई।

अमेरिका में CORONAVIRUS ने मचाई तबाही, संक्रमित लोगों की संख्या एक लाख के पार

पलायन करने वालों में बच्चे, जवान, बुजुर्ग ,महिलाएं है। बता दे अभी तक यह लोग अपने गांव के लिए पैदल, साइकिल या रिक्शा से जा रहे थे और इस तरह इनको पहुंचने में कम से कम 5 से 10 दिनों का समय लगता। लेकिन अब इनके लिए बसों की व्यवस्था कर दी गई है। जिससे अब यह एक दिन में ही अपने गांव पहुंच जाएंगे और लॉकडाउन का पालन करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here