यूपी: सुरक्षा उपकरणों पर विशेष ध्यान, पीपीई किट बनाने के लिए सीएम ने…

cm yogi
image source - google

कोरोनावायरस से लड़ाई के लिए सबसे ज्यादा उपयोगी सुरक्षा उपकरण है। इसलिए उत्तर प्रदेश सरकार खासतौर पर इनका निर्माण कर उपलब्ध कराने पर जोर दे रही है। इनमें सबसे खास है, पीपीपी किट। बता दें इस किट में दस्ताने, रबड़ के जूते, मास्क, गाउन, चश्मा और कैप आदि होते हैं। जो डॉक्टर,नर्स, मेडिकल स्टाफ,सफाई कर्मचारी उपयोग करते हैं।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने विशेष रुप से पीपीपी किट के लिए 50 औद्योगिक इकाइयां को शुरू करने की अनुमति दे दी है और सैनिटाइजर के लिए भी 40 औद्योगिक इकाइयां चालू की गई हैं।

4946 औद्योगिक इकाइयों को चालू किया गया है। 141 आंटा और 200 से अधिक दाल मिल चलने लगी है। प्रदेश में 51 लाख 63 हजार 892 लीटर दूध का उत्पादन हुआ है। अवनीश अवस्थी ने बताया कि जिन परिवार के पास राशन कार्ड नहीं है, उनको भी राशन कार्ड होम डिलीवरी के द्वारा घर तक पहुंचाया जा रहा है। 185 लाख किसानों को 3700 करोड़ रुपए तक हस्तांतरित किए गए हैं

लॉकडाउन की वजह से फंसा बेटा,1400 किलोमीटर स्कूटी से चलाकर वापस ले आई मां

अपर मुख्य सचिव ग्रह अवनीश अवस्थी ने कहा की कुछ दिन पहले यूपी सरकार ने 15 जिलों को सील कर हॉटस्पॉट बनाए थे। इसी का अनुसरण कई राज्यों ने भी किया है। लॉक डाउन का उल्लंघन करने वाले 45443 लोगों पर 14547 एफ आई आर दर्ज की गई है। प्रदेश में 448 संक्रमित लोग हैं। इनमें से 254 लोग तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here