जेपी ग्रुप को जमीन आवंटन के मामले में दो अफसर हटाए गए

google
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जेपी ग्रुप को 1161 एकड़ जमीन देने का लिया गया था फैसला
  • राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण विभाग और सरकार के बीच इसी मसले को लेकर था मतभेद

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दो अधिकारियों पर शासन का कहर टूट पड़ा और उनको अपने पद से हटा दिया गया है। मामला जेपी ग्रुप को जमीन आवंटन का है जिसमे उत्तर प्रदेश की सरकार ने 23 अक्टूबर को कैबिनेट की एक बैठक किया था और जेपी ग्रुप को 1161 एकड़ जमीन देने का फैसला लिया गया था। कैबिनेट ने इस प्रस्ताव का अनुमोदन किया था लेकिन राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण विभाग (NGT) और सरकार के बीच इसी मसले को लेकर मतभेद था।

भ्रष्टाचारी अफसरों पर योगी सरकार एक बार फिर से सख्त

प्रदेश सरकार ने यह ज़मीन जेपी ग्रुप को एक्सचेंज में दिया था जबकि एनजीटी ने इस ज़मीन को वन क्षेत्र घोषित कर दिया था। सरकार ने वन क्षेत्र से बाहर की ज़मीन को कृषि के लिए दिया था और अब इसी मामले को लेकर दो अधिकारियों पवन कुमार तथा कल्पना अवस्थी को हटा दिया गया है।