कुछ ही देर में ट्रंप के बदले सुर, कहा पीएम मोदी शानदार

american president donald trump
image source - google

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत से हाइड्राक्सीक्लोरोक्वीन नाम की दवा मांगी थी। इसमें देरी होने पर ट्रंप ने अपने एक बयान में कहा था कि अगर भारत अमेरिका को दवा नहीं देता है तो मुझे बहुत हैरानी होगी। भारत अमेरिका का रिश्ता शुरुआत से ही अच्छा रहा है। लेकिन अगर वो हाइड्राक्सीक्लोरोक्वीन दवा नहीं देते हैं तो हम उनको इसका जवाब देंगे।

दुनिया में 13 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित, इन देशों में करोना ने मचाई सबसे ज्यादा तबाही

भारत में अमेरिका के इस बयान पर कहा था कि हमारी प्राथमिकता हमारा देश है। पहले हम देखेंगे कि देश में हाइड्राक्सीक्लोरोक्वीन दवा पर्याप्त मात्रा में हो। इसके बाद ही हम अन्य जरूरतमंद देशों को इसका निर्यात करेंगे। इसके बाद कल मंगलवार को भारत ने हाइड्राक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात से प्रतिबंध हटा दिया है। ऐसा मानवीय आधार पर किया गया है। क्योंकि अमेरिका के अलावा कई देशों ने इस दवा के निर्यात के लिए आग्रह किया गया है और उन देशों में संक्रमित मरीजों की संख्या भी बहुत ज्यादा है। मालूम हो भारत इस दवा का मुख्य निर्यातक देश है। ऐसे में अन्य जरूरतमंद देशों की मदद करना भारत का कर्तव्य है।

ट्रंप के बदले सुर

प्रतिबंध हटते ही अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बोल बदल गये। कल उन्होंने नतीजे भुगतने की धमकी दी थी और आज कहा की मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा था कि क्या वह हमें हाइड्राक्सीक्लोरोक्वीन दवा देंगे? वो शानदार थे। भारत ने अभी तक अपनी जरूरत के लिए इस दवा के निर्यात पर रोक लगाई थी, वो सही थे। ट्रंप ने बताया कि हमने भारत से 29 मिलियन डोज हाइड्राक्सीक्लोरोक्वीन दवा के खरीदे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here