कल है भारत का 71वां गणतंत्र दिवस, जाने इस दिन की अहमियत

Republic Day 2020
google

भारत इस बार 26 जनवरी को अपना 71वां गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाएगा। देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) समेत पूरे भारत में गणतंत्र दिवस मानाने की तैयारियां की जा रही हैं। देश भर में सभी स्कूल और कालेज में इस दिन कई प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इस बार भी सभी छात्र और छात्राएं आयोजित होने वाले प्रोगाम के लिए तैयारियां कर रहे हैं। लेकिन क्या आपको मालूम है कि 26 जनवरी को ही इसे क्यों मनाया जाता है और इसकी क्या खासियत है।

भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को पूरे देश में लागू किया गया था और इससे पहले भारत की संविधान सभा ने 26 नवंबर 1949 में इस संविधान को स्वीकार किया था। देश का संविधान लागू होने की खुशी में ही हर साल गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। संविधान लागू करने के लिए 26 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया क्योंकि 26 जनवरी 1929 को कांग्रेस ने सबसे पहले अंग्रेजों की गुलामी के खिलाफ ‘पूर्ण स्वराज’ का नारा दिया था। देश की आज़ादी के बाद संविधान सभा का गठन किया गया था और इसने अपना कार्य 9 दिसंबर 1946 से शुरू कर दिया था। डॉ. राजेंद्र प्रसाद को संविधान सभा का अध्यक्ष बनाया गया और उनको 26 नवंबर 1949 को भारत का संविधान सौंपा गया था।

इस फैशन ब्रांड के लिए फोटोशूट कराने वालीं पहली भारतीय अभिनेत्री बनीं Deepika Padukone

भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है जो 2 साल, 11 माह, 18 दिन में तैयार हुआ था। भारत सरकार अधिनियम (एक्ट 1935) को हटाकर 26 जनवरी 1950 में भारत का संविधान लागू किया गया था। इस दिन सुबह 10:18 बजे भारत एक गणतंत्र बनाया गया था और पहले राष्ट्रपति के रूप में 10:24 बजे डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने शपथ ली थी। इस अवसर पर डॉ. राजेंद्र प्रसाद एक राष्ट्रपति के तौर पर बग्गी में सवार होकर राष्ट्रपति भवन से बाहर आये थे और भारतीय सैन्य बल की सलामी लिया था। इस शुभ अवसर पर राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद को पहली बार गार्ड ऑफ ऑनर से नवाज़ा गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here