प्राइवेट कार से दबिश देने पहुंची पुलिस से लोगों की अभद्रता

image suorce- google

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गोमती नगर के विभूतिखंड थाना क्षेत्र में प्राइवेट कार से दबिश देने पहुंची पुलिस से लोगों की ने अभद्रता की। बता दे ऐसा इस लिए हुआ क्योकि टीम में कुछ पुलिस वाले अपनी वर्दी की वजह सादे कपड़ों में थे। कठौता के पास आरोपित के पिता-भाई समेत तीन दर्जन से अधिक लोगों ने पुलिस टीम को बंधक बना लिया।

विरोध करने पर हमलावरों ने पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया। जिसमें गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई और दो सिपाही बुरी तरह घायल हो गए। हमलावरों ने कार चालक का पर्स व कागज भी लूट लिए। सूचना पर जब तक गोमतीनगर व विभूतिखंड थाने की पुलिस पहुंचतीतब तक हमलावर साथी को छुड़ाकर भाग निकले।

 

दरअसल मामला यह था की गोमतीनगर विनीतखंड स्थित रेस्टोरेंट में तीन दिन पहले एमिटी छात्रों के दो गुटों के बीच जमकर मारपीट हुई थी। पुलिस ने इस मामले में शुभम यादव समेत चार नामजद व अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास, लूट समेत गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की थी। रविवार की देर रात पुलिस को सूचना मिली कि जानलेवा हमले व लूट का आरोपित कठौता झील के करीब घर के पास साथियों के साथ मौजूद है। इस पर पोलिस ने प्राइवेट इनोवा दबिश के लिए बुक की। रात में पुलिस टीम इनोवा कठौता के पास पहुंची।

राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर में ‘विश्व गठिया रोग दिवस’ पर कार्यक्रम का आयोजन

जब पुलिस ने आरोपित को पकड़ा उसके पिता व तीन दर्जन से अधिक लोगों ने पुलिस टीम को घेर लिया। उपनिरीक्षक ने लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन भीड़ ने गाली-गलौज करते हुए टीम को बंधक बनाकर डंडों, सरिया व पत्थर से हमला कर दिया। लोगो का कहना है की उन्होंने अपहरण समझ कर गुस्से में आकर पुलिस से हाथापाई कर गाड़ी में तोड़फोड़ की।इस दौरान सूचना पाकर पहुंची स्थानीय पुलिस ने आक्रोशित लोगों के बीच ने सकुशल पुलिसकर्मियों को निकाला।