समय पूर्व रिहा किये गए आरोपियों का सुप्रीम कोर्ट ने माँगा विवरण

google

उत्तर प्रदेश में समय से पहले हत्या और बलात्कार के आरोपियों को जेल से रिहा किये जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से ब्योरा माँगा है। उत्तर प्रदेश में 1 जनवरी 2018 से लेकर अब तक कुल 1,544 हत्या और बलात्कार के अभियुक्तों को सज़ा पूरी होने से पहले छोड़ा जा चुका है।

उत्तर प्रदेश सरकार को सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस केएम जोसेफ की पीठ ने सोमवार को निर्देशित करते हुए कहा है कि सजा माफ कर के समय से पहले छोड़े गए कैदियों का विवरण कोर्ट में प्रस्तुत करें। इस मामले की अगली सुनवाई छह सप्ताह के बाद निर्धारित की गई है।

बलात्कार कर हत्या करने वाले युवक को पुलिस ने किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश सरकार के वकील द्वारा बताया गया था कि “1 जनवरी 2018 से अब तक राज्य में हत्या और बलात्कार के कुल 1,544 अपराधियों को सज़ा पूरी होने से पहले रिहा किया गया है”। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने प्रदेश सरकार को यह निर्देश जारी किया है।