भतीजे के आगे झुकने को तैयार शिवपाल यादव

Google

अभी हाल ही में मंगलवार को समाजवादी पार्टी का गढ़ माना जाने वाला इटावा में शिवपाल यादव का एक बड़ा बयान आया था, जिसमें वह समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन चाहते हैं, इस बयान में उन्होंने यह साफ कर दिया था कि वह परिवार में फिर से एकता चाहते हैं। इसके बाद शिवपाल के इस रवैये को देखते हुए ऐसा प्रतीत होता है की समाजवादी परिवार लगभग एक होने की ओर है क्यूंकि ये खुद शिवपाल यादव कह रहे है।

क्या-क्या कहा शिवपाल यादव ने –

नेता जी के जन्म दिन के दौरान खुद शिवपाल यादव ने सैफई में एक कार्यक्रम के दौरान कहा है कि अगर भतीजा बात नहीं मान रहा है तो मै ही झुक जाता हूँ और साफ़ तौर से ये भी कहा की हमें मुख्यमंत्री नहीं बनना है।

महाराष्ट्र की राजीनीति का रातो रात पलट गया पाशा

उन्होंने कहा कि प्रदेश में हर एक जनपद में घूमा हूॅ । हर जगह बुजुर्ग लोग मिले जो लोग समाजवादी विचारधारा से जुड़े थे। उन सभी लोगों ने हमसे कहा कि अगर भतीजा बात नहीं मान रहा है तो आप ही झुक जाओ ।

उन्होंने कहा कि हमने त्याग किया है। बड़े बुजुर्गों की बातें मानी है हमने,मुख्यमंत्री हम नहीं बनेंगे। मुख्यमंत्री अगर हम बनते तो 2003 में ही बन जाते। उन्होंने परिवार की हारी हुई सभी सीटें के बारे में जिक्र किया। अगर परिवार में माहौल खराब नहीं होता तो एक भी सीट नहीं हारते।