शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने जमात को निशाना बनाए जाने पर कहा, मुस्लिम की हितैषी पार्टियां…

shia muslim personal board
Google

शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के सेक्रेटरी मौलाना कुम्मी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि इस समय जो तबलीगी जमात का मामला चल रहा है, उसके साथ ही अन्य इबादतगाह और संस्थाओं की भी जांच होनी चाहिए। सिर्फ एक मजहब की जांच ना होकर सबके जांच हो ।

मुसलमानों के हितैषी पार्टियां कहां

सेक्रेटरी मौलाना कुम्मी ने राजनीतिक पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा कि मुसलमानों की हितैषी पार्टियां कहां है? मेरी राजनीतिक पार्टियों से अपील है कि वो मुसलमानों और दलितों का साथ दें। आगे उन्होंने कहा कि इस समय सभी मस्जिदें और इबादतगाह बंद है। मुसलमान कानून का पालन कर रहे हैं। कोरोनावायरस से लड़ने के लिए सब को एक साथ होना चाहिए।

अज़ब गज़ब : कोरोना कॉलरट्यून को लेकर हाइकोर्ट में याचिका दायर

बता दें दिल्ली के निजामुद्दीन में आयोजित तबलीगी जमात के धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए दो हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए थे। पुलिस को सूचना मिलने के बाद जब जांच कराई गई तो पता चला इनमें से कई कोरोनावायरस पॉजिटिव है। जिसके बाद हड़कंप मच गया था। क्योंकि यह लोग देश के अलग-अलग हिस्सों से और कुछ विदेशों से भी आए हुए थे।

नियमों का उल्लंघन करने वाले कई तबलीगी जमात के लोगों पर केस दर्ज किया जा चुका है और कार्यवाही हो रही है। इसी मामले को लेकर कुछ लोगों को लग रहा है कि मुसलमानों को खास तौर पर निशाना बनाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here