असम को इंडिया से अलग करने की माँग, भड़के नेता

....5 लाख संगठित लोगों की जरुरत है ताकि असम जाकर सारे जमीनी रास्तों को जाम कर दें, वहां इतना मलबा रख दे

sharjeel imam, shaheen bagh, CAA Protest, NRC Protest, Assam CAA, AMU Protest,
image source- google.com

शाहीन बाग़ प्रोटेस्ट एक नए विवाद में घिर गया है। दरअसल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक लड़का, जिसका नाम शरजील इमाम है,असम तथा बाकी उत्तर-पूर्व को भारत से अलग करने की बात कर रहा है।

वीडियो में वह लोगों को उकसाते हुए कह रहा है कि हमें 5 लाख संगठित लोगों की जरुरत है ताकि असम जाकर सारे जमीनी रास्तों को जाम कर दें, वहां इतना मलबा रख दे. जिसे सरकार को हटाने में एक महीने का समय लग जाये ताकि आर्मी का आवागमन बाधित हो जाये एवं उत्तरपूर्व तक को सप्लाई न पहुँच सके। ऐसा करके हम हिंदुस्तान को उत्तर-पूर्व से हमेशा के लिए अलग कर देंगे तभी सरकारें हमारी बातें सुनेंगी।

इस वीडियो के वायरल होने के बाद बीजेपी प्रवक्ता संबित पत्रा ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस कर बहुत ही कड़े शब्दों में इसका विरोध किया। संबित पात्रा ने आगे कहा शाहीन बाग़ दिशाहीन बाग़ हो चूका है पात्रा इतने पर भी नहीं रुके उन्होंने शाहीन बाग़ को तौहीन बाग़ बता डाला।

कौन है शरजील इमाम ?

शरजील इमाम JNU में पीएचडी का स्टूडेंट है। यह पहला मौका नहीं है जब शरजील ने इस तरह का कोई देश-विरोधी बयान दिया हो। जब हमने शरजील इमाम के बारे रिसर्च किया तो हमें सोशल मीडिया पर उसका एक और वीडियो मिला जिसमें वो देश के संविधान को फाँसीवादी व मुस्लिम विरोधी बता रहा है। इससे साफ़ पता चलता है कि शरजील इससे पहले भी इस तरह के बयान देता आया है।

आम आदमी पार्टी में नंबर दो और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जल्द से जल्द शरजील की गिरफ़्तारी की मांग करते हुए कहा: इस तरह के बयान निंदनीय व देशविरोधी है इसे कत्तई सहन नहीं किया जा सकता है।

बाद में शरजील ने अपनी सफाई में एक पत्रकार को बताया कि वह केवल चक्का-जाम करने की बात कर रहा था। देश तोड़ने की बातें बेबुनियाद और बकवास हैं। शरजील ने यह भी कबूला कि यह वीडियो शाहीन बाग़ का नहीं बल्कि अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय ( AMU ) का है।