शान हेल्प ग्रुप ने आगजनी से प्रभावित परिवारों को बांटी राहत सामग्री

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कल विभूति खण्ड थाना क्षेत्र स्थित डिवाइन हॉस्पिटल के पास पुल के नीचे झुग्गी झोपड़ी में रहने वालो के आशियाने जल कर राख हो गए। दिन रात मेहनत करके दो वक्त की रोटी कमाने वाले गरीबो के आशियाने जल कर खाक में मिल गए। बता दे की दिन भर मजदूरी करके चार पैसा जुटाने और अपना पेट भरने के लिए गरीबो ने जो भी जोड़-जोड़ पूँजी इकट्ठा कर रखी थी वह सब इस लगी भीषण आग में नष्ट हो गया।

लखनऊ की शान हेल्प ग्रुप ने आगजनी से प्रभावित परिवारों को राहत सामग्री बाँट कर मानवता की मिसाल पेश की है। शान हेल्थ ग्रुप ने सभी पीडतों को आटा,चावल,दाल अरहर,आलू,नमक,पैकेट सब्जी मसाला,सरसो का तेल बिस्कुट के एक एक दर्जन पैकेट,केले,सेब,जरुरत के कपड़े,कम्बल आदि का वितरण किया गया। सामान पाने की खुशी में सभी ने हेल्प ग्रुप को धन्यवाद किया।

झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले गरीबो के आशियाने जलकर हुए राख

बता दे की इसकी सुचना शान हेल्थ ग्रुप को सोशल मिडिया के अनुसार मिली।सोशल मीडिया से जानकारी होने के बाद राजधानी की एक्टिव लखनऊ की शान ग्रुप ने टीम प्रबंधन के साथ मिलकर आवश्यक वस्तुओं का कलेक्शन किया और तुरंत एक्टिव होकर पीड़ितों की मदद के लिए एकजुट हो गए। इस सहायता अभियान में टीम लीडर मनोज कुमार के साथ अंजली पांडेय,बृजेन्द्र बहादुर मौर्या,राजेश मेहरोत्रा, दीपक राजभर, कीर्ति पंत, रचना कपूर, सागर शान, सुनीता शर्मा, निधी श्रीवास्तव, रिचा चतुर्वेदी, सुनीता यादव, प्रयागराज से विमेंद्र तिवारी, कानपुर से सुमित श्रीवास्तव, बलरामपुर से आलोक अग्रवाल ने अपने स्तर से मदद की।

बता दे की लखनऊ की शान हेल्प ग्रुप कई सामाजिक संस्थाओं व्यक्तियों से मिलकर बना है जिसमे सिटीसीएस संस्था, अंजली फ़िल्म प्रोडक्शन्स, रिदम डांस फैक्ट्री,बाल नृत्यांगना वागीशा पन्त,समाजसेवी बृजेन्द्र बहादुर मौर्य,वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता आलोक अग्रवाल सहित दर्जनों व्यक्ति मिलकर अनेक सामाजिक कार्य करते है।