महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर संगोष्ठी का किया गया आयोजन

google

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के कम्फर्ट इन होटल विभूतिखंड गोमती नगर में आयोजित संगोष्ठी में राजस्थान के राज्यपाल ने लोगों से गांधी जी के विचारों को अपने जीवन में आत्मसात करने का प्रयास करने की अपील की। आपको बता दे सार्थक प्रयास सेवा समिति की ओर से गुरुवार को राष्ट्रपति महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘गांधी जी के विचार और वर्तमान समाज’ विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें राजस्थान के महामहिम राज्यपाल कलराज मिश्र जी मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित हुए।

उन्होंने कहा कि गांधी जी ने कभी भी नैतिक मूल्यों से समझौता नहीं किया। महिलाओं के प्रति उनके मन में हमेशा सम्मान रहा। स्वच्छता को उन्होंने अभियान माना। उनका मानना था कि जहां स्वच्छता है वहां भगवान का वास होता है। अन्याय के विरुद्ध वे हमेशा संघर्ष करते थे। स्वस्थ भारत सबल भारत उनका नारा था। बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि गांधी जी के विचार आज भी उतने ही जीवंत है जितने उस समय थे।

इस कार्यक्रम का संचालन प्रवीण श्रीवास्तव द्वारा किया गया|संगोष्ठी में मौजूद भाजपा नेता नीरज सिंह ने कहा कि गांधी जी के विचार 1500 वर्षों तक अमर रहेंगे। जो दूसरों का दर्द समझे उससे बड़ा कोई धर्म नहीं हो सकता। यदि उनसे प्रेरणा लेते हुए थोड़ा भी अनुश्रवण करें तो यह बहुत बड़ी बात है। वरिष्ठ भाजपा नेता संतोष सिंह ने कहा कि बापू की नीति के कारण भारत की अर्थ व्यवस्था मजबूत है।

इस कार्यक्रम के दौरान पार्षद रामकुमार वर्मा, वीरेंद्र कुमार वीरू,अरुण राय, शैलेन्द्र वर्मा, महेन्द्र सिंह, केके पाण्डेय,शैलेंद्र राय,अभिनव, मनोज वर्मा, संजीव,तेज,रनवीर सिंह, भूपेंद्र सिंह ने स्वागत किया।