पीड़िता को समाजसेवियों ने दिलाया इन्साफ, जीवन यापन के लिए भी की मदद

लखीमपुर खीरी जिले में समाज सेवा का एक नया चेहरा सामने आया है, जहां पर समाजसेवियों ने ना कि सिर्फ एक नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता को इंसाफ दिलाने का कार्य किया है, वहीं उसके पूरे जीवन यापन का खर्च उठाने की भी जिम्मेदारी संभाली है।

दरअसल बीते लगभग 5 माह पूर्व एक 14 वर्षीय नाबालिग युवती के साथ उसके चचेरे जीजा ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया था। जिसको लेकर पीड़ित के परिजनों ने एक तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई थी। तहरीर के आधार पर दुष्कर्म से संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था लेकिन उसके बावजूद भी आरोपी के ऊपर पुलिस किसी तरह की कोई कार्यवाही नहीं कर रही थी और समय बीतने के बाद लड़की गर्भ से भी हो गई थी।

पीड़िता व उसका परिवार काफी परेशान थे, इसकी जानकारी ग्राम प्रधान मकसूद अली गुड्डू को मिली जिसके बाद उन्होंने समाजसवी एडवोकेट हैदर अली के साथ मिलकर पीड़िता को इंसाफ दिलाने की कोशिश करनी शुरू कर दी। पहले उन्होंने पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए आला अधिकारियों से बात की और समय बीतने के साथ-साथ आला अधिकारियों के दिशा निर्देश पर आरोपी को पास्को एक्ट जैसे संबंधित धाराओं में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

सरकारी स्वास्थ्य केंद्र पर मरीजों के साथ खिलवाड़, लाखों की दवा बर्बाद

पीड़िता की परेशानी को देखते हुए उन्होंने हाईकोर्ट से एक दरख्वास्त की पीड़िता को इस गर्भ से छुटकारा दिलाया जिसके बाद दोनों समाजसेवियों ने पीड़िता का सफल ऑपरेशन करवाने के बाद उसके घर लेकर पहुंचे। उन्होंने पीड़िता के जीवन यापन के लिए 50,000₹ भी दिए और पूरे जीवन भर पीड़िता के जीवन यापन की जिम्मेदारी ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here