राम जन्मभूमि: चीफ़जस्टीस रंजन गोगोई ने बड़ी टिप्पणी की

सुप्रीमकोर्ट के माननीय चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने आज ३२ वे दिन सुनवाई करते हुए एक बड़ी बात कहीं है । चीफ जस्टिस ने कहा की अयोध्या मामले की सुनवाई 18 अक्टूबर तक होना जरुरी है । यदि ऐसा नहीं होता है तो फैसला देने का चांस ख़त्म हो सकता है । आपको बता दे की ऐसा इस लिए क्योंकि 18 नवम्बर को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई रिटायर हो रहे है और आशा की जा रही है की अयोध्या केस का फैसला 17 नवम्बर तक आ सकता है।

10 दिन का समय

सुप्रीमकोर्ट में इन दिनों श्री राम जन्मभूमि को लेकर रोज सुनवाई की जा रही है । न्यायालय ने तो यहाँ तक कहा था की अवसक्ता पढ़ी तो शनिवार को भी केस की सुनवाई की जाएगी । यानि अब सुप्रीमकोर्ट भी चाहता है की राममंदिर का फैसला जल्द से जल्द सुना दिया जाये। आपको बता दे की अब 10 दिन और सुनवाई होगी इसके बाद सुप्रीमकोर्ट 4 हफ्तों में सभी पेस किये गए सबूतों को देखेगा और जिस पक्ष के साबुत ज्यादा मजबूत होंगे उसी के पक्ष में फैसला किया जायेगा ।