राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जन्म शताब्दी के समापन पर पीएम मोदी ने राम मंदिर..

Rajmata Vijayaraje Scindia
image source - google

आज सोमवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राजमाता विजयाराजे सिंधिया के जन्म शताब्दी वर्ष के समापन दिवस समारोह के अवसर पर विशेष स्मारक सिक्के का विमोचन किया।

विमोचन के बाद पीएम मोदी ने कहा कि पिछली शताब्दी में भारत को दिशा देने वाले कुछ एक व्यक्तित्व में राजमाता विजयाराजे सिंधिया भी शामिल थी। राजमाता जी केवल वात्सल्य मूर्ति ही नहीं थी। वो एक निर्णायक नेता थी और कुशल प्रशासक भी थी।

राष्ट्र के भविष्य के लिए राजमाता ने अपना वर्तमान समर्पित कर दिया था। देश की भावी पीढ़ी के लिए उन्होंने अपना हर सुख त्याग दिया था। राजमाता ने पद और प्रतिष्ठा के लिए ना जीवन जिया ना राजनीति की।

राजमाता के दो बड़े सपने हुए पूरे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 खत्म करके देश ने उनका बहुत बड़ा सपना पूरा किया है और यह भी कितना अद्भुत संयोग है कि राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए उन्होंने जो संघर्ष किया था, उनके जन्म शताब्दी के साल में ही उनका यह सपना पूरा हो गया है।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here