पंजाब चुनाव में कांग्रेस को बड़ा झटका, भाजपा का पलड़ा भारी

    source - google

    पंजाब के पूर्व सीएम कप्तान अमरिंदर सिंह अपनी पुरानी पार्टी कांग्रेस से अपना रास्ता अलग कर लिया है। जिसके बाद से ही उनके खुद के पार्टी का गठन और भाजपा से गठबंधन की चर्चा ज़ोरों पर है। कप्तान अमरिंदर सिंह पंजाब के चहिते या यूं कहें की पंजाब की जनता के पसंदीदा सीएम रहे हैं।

    इनकी छवि की वजह से कांग्रेस पंजाब में जीत हासिल करती आई है। इस बार पंजाब में अमरिंदर सिंह भाजपा की तरफ से चेहरा बनकर सामने आ सकते है, जिसकी बात उन्होंने खुद कही है। कई बार कप्तान ने कहा की अगर किसानों का मुद्दा साफ़ हो जाता है उसके बाद वो भाजपा के साथ जा सकते है।

    भारत की अर्थव्यवस्था वापस लौटी पटरी पर, इस बार हुई बड़ी GDP ग्रोथ

    अब जब केंद्र सरकार ने किसानों की बात मान कर तीनों कृषि कानून वापस ले चुके हैं तो कहीं न कहीं कप्तान का भाजपा से गठबंधन तय नज़र आ रहा है। ऐसे में ये देखना होगा कि इस बार पंजाब के चुनाव में जब कप्तान कांग्रेस के साथ नहीं हैं, क्या कांग्रेस जीत पाती है या इस बार पासा पलटेगा और कप्तान की गैर मौजूदगी कांग्रेस को हार दिलाती है। फ़िलहाल कप्तान भाजपा के साथ जाने के लिए तैयार दिख रहे है तो इस चुनाव में भाजपा का पलड़ा भारी नज़र आ रहा है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here