प्रधानमंत्री पहुंचे लोकभवन, किया अटल प्रतिमा का अनावरण

atal bihari
google

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के लोकभवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुँच गए हैं। यहाँ पर उनका ज़बरदस्त स्वागत किया गया है। अटल बिहारी वाजपेयी की 95वीं जन्मतिथि के मौके पर उन्होंने अटल प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, उप मुख्यमंत्री के केशव प्रसाद मौर्य दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित, गोपाल टण्डन, ब्रजेश पाठक, नीलकंठ तिवारी तथा अवनीश अवस्थी भी उपस्थित रहे।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कार्यक्रम में मौजूद सभी अतिथियों का स्वागत किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री मोदी को ओडीओपी का स्मृति चिन्ह भेंट किया। अटल प्रतिमा के अनावरण कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सभी को सम्बोधित किया।

 Unveiled Atal statue
google

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का सम्बोधन

रक्षामंत्री ने लखनऊ लोकसभा क्षेत्र की जनता का अभिनंदन करते हुए कहा कि आज भारत के मार्गदर्शक, युगपुरुष अटल बिहारी का जन्मदिन है। अटल बिहारी के संसदीय क्षेत्र लखनऊ का प्रतिनिधित्व करने का मुझे मौका मिला है। उन्होंने योगी को अटल प्रतिमा लगाने के लिए बधाई दी और कहा कि अटल की स्मृतियां हमारे लिए अटल अंश है तथा उन्होंने केवल भारत ही नहीं बल्कि विश्व को भी अपने विचार से प्रभावित किया है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि तत्कालीन पीएम नरसिम्हा राव ने भी विपक्ष का होने के बावजूद अटल पर विश्वास किया था। अटल जी के प्रधानमंत्रित्व काल की तुलना नहीं की जा सकती है। अटल के बाद किसी ने अगर चुनौतियों को स्वीकार किया तो वह पीएम मोदी हैं। भारत को अटल ने परमाणु सम्पन्न देश बनाया और कहा कि भारत कभी पहले एटम का प्रयोग नहीं करेगा। जो धर्म के आधार पर भेदभाव न करे वही सच्चा हिंदुस्तानी है। वशुधैव कुटुम्बकम का संदेश भारत की धरती ने दिया है

atal
google

प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन

प्रधानमंत्री ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि अटल जल योजना की आज शुरुआत हुई है। 6 हज़ार करोड़ रुपये की इस योजना से उत्तर प्रदेश सहित सात राज्य का भूजल स्तर सुधरेगा। प्रीवेंटिव हेल्थकेयर पर ज्यादा ध्यान दें। इसी के लिए सवा लाख वेलनेस सेंटर देश में चालू किये गए हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि लखनऊ ने मेरा स्वागत किया, मुख्यमंत्री ने मेरा स्वागत किया। काशी का सांसद आपको धन्यवाद कहता है। अटल को वंदन और सम्मान करने का अवसर मिला। रोहतांग टनल का नाम अटल के नाम पर किया गया है और उनकी प्रतिमा सुशासन और सम्मान का संदेश देती रहेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अटल के नाम पर उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सेवा का शुभारंभ मेरे लिए सम्मान कि बात है। अटल ने लखनऊ में सैकड़ों विकास का काम शुरू किया था और राजनाथ सिंह अटल की विरासत को संवार और निखार रहे हैं। सुशासन तब तक सम्भव नहीं जब तक समस्याओं को नहीं सुलझाएंगे। मेडिकल कॉलेज, डेंटल, पैरामेडिकल, नर्सिंग की सारी विधाओं को यह विश्वविद्यालय आगे बढ़ाएगा और एक समान सेलेबस व परीक्षा चार्ट इस विश्वविद्यालय से लागू होगा। हमारा वीजन पहले दिन से स्पष्ट है, हेल्थकेयर सिस्टम को लेकर लगातार काम कर रहे हैं। सबसे अच्छा है बीमार होने से बचा जाए, जितना ज्यादा जागरूक होंगे उतना इम्यूनिटी बढ़ेगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि उज्ज्वला योजना से धुंए से मुक्ति दिलाना भी प्रिवेंटिव केयर है। आयुष, आयुर्वेद बड़ी भूमिका अदा कर सकते हैं। पशु का अयोग्य भी ह्यूमन के प्रिवेंटिव हेल्थ में काम आता है। आयुष्मान भारत से 70 लाख मरीजों का मुफ्त इलाज हुआ है और यूपी ने आयुष्मान योजना को तेजी से लागू किया। जन औषधि केंद्र से बड़े पैमाने पर लोगों को फायदा मिला है जिसमे गरीब से गरीब को स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध हो रही। 75 नए मेडिकल कॉलेज को अनुमति दी है और 5 वषों में लागातर मेडिकल की सीटें बढ़ाई गए हैं। यूपी में 2 दर्जन मेडिकल कॉलेज को अनुमति दी गई हैं। इंसेफेलाइटिस मामले में योगी टीम ने सराहनीय काम किया हैं जिसके लिए यूपी के लोग और योगी टीम बधाई की पात्र हैं। यूपी का हर बच्चा सुरक्षित और स्वस्थ रहे इसके लिए इंद्रधनुष मिशन पर काम करें।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर सरदार पटेल को किया याद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सम्बोधन

मुख्यमंत्री ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के लखनऊ आगमन पर उनका स्वागत करता हूं। अटल की कर्मभूमि उत्तर प्रदेश रही हैं और वह आगरा के बटेश्वर से जुड़े रहे हैं। उत्तर प्रदेश ने अटल की प्रथम कर्मभूमि बलरामपुर का चयन किया गया है और KGMU के सेटेलाइट सेंटर को बलरामपुर में स्थापित किया जाएगा। अटल की प्रतिमा लोकभवन में हमे हमारी प्रतिबद्धता को याद दिलाएगी। पहले 75 में सिर्फ 15 जनपदों में मेडिकल कॉलेज थे। पिछले ढाई साल में 45 जनपदों में मेडिकल कॉलेज होने जा रहे। 7 मेडिकल कॉलेज में प्रवेश शुरू हुआ है और 8 मेडिकल कॉलेज में इस सत्र प्रवेश लेने जा रहे। 13 नए मेडिकल कॉलेज की अनुमति हमे मिली है। काम शुरू होते ही 49 मेडिकल कॉलेज, 17 डेंटल, 210 नर्सिंग, 89 पैरामेडिकल की संबद्धता अटल विवि से होगी। गोरखपुर एम्स में ओपीडी शुरू हुई है और रायबरेली एम्स में भी ओपीडी शुरू हो रही।