भारत के राष्ट्रपति का मथुरा वृंदावन आगमन

google

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आगमन के मद्देनजर बांके बिहारी की नगरी वृंदावन को चार जोन और 18 सेक्टरों में बांट दिया गया है। इसमें जोनल मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी सीडीओ और एडीएम स्तर के अधिकारियों को दी गई है। वहीं एसडीएम सेक्टर मजिस्ट्रेट बनाए गए हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 28 नवंबर को वृंदावन आ रहे हैं।

आपको बता दे की राष्ट्रपति आज रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम के शारदा ब्लॉक स्थित कैंसर यूनिट का शुभारंभ करेंगे। इसके बाद वो ठाकुर बांकेबिहारी के दर्शन करेंगे। राष्ट्रपति की वृंदावन में करीब तीन चार घंटे तक रुकने की संभावना है। इस कार्यक्रम के दौरान राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी वृंदावन में मौजूद रहेंगे। वीवीआईपी के आगमन को लेकर प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं।

सांसद ने गांव को गोद लेने के बाद टी बी के पांच बच्चों को लिया गोद

इसके साथ ही पुलिस प्रशासन के कड़े इंतजाम किये गए है। चप्पे चप्पे पर पुलिस दल मौजूद किये गए है। सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस की काफी व्यवस्था की गई और रूट डाइवर्जन भी किया है। मगर उन्हें कुछ समय के लिए रहेगा वहीं बंदरो के आतंक की वजह से मलटी टास्क को जिम्मेदारी दी गई है। जबकि लगातार ब्रीफिंग कराई जा रही है और जितने प्वाइंट है। सभी को चेक किया जा रहा है।

सभी अधिकारी और स्टाफ का कॉम्बिनशन रहेगा जिससे कोई भी समस्या ना हो और ना ही पब्लिक को परेशानी हो बाकी सभी पहलुओं की तीन दिन पहले से तैयारी की जा रही है। अब फाइनल तैयारी को अमलीजामा पहनाया जा रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वृंदावन में अक्षय पात्र स्थित हेलीपैड पर सेना के हेलीकॉप्टर से उतरेंगे। यहां उनके आगमन को देखते हुए पांच हेलीपैड बनाए गए हैं।