पहला ऊर्जा मीटर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत ने अपने सरकारी आवास पर लगवाया

prepaid meter
image source - google

➤ 2022 तक हर घर में प्रीपेड मीटर लगवाने का लक्ष्य।
➤ प्रीपेड मीटर से बिजली चोरी नहीं हो सकेगी।
➤ मीटर को रिचार्ज करने पर ही बिजली आएगी।
➤ मोबाइल से कर सकेंगे प्रीपेड मीटर को रिचार्ज।

कालिदास मार्ग पर स्थित ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अपने सरकारी आवास पर पहला प्रीपेड मीटर लगवाया। ऊर्जा मंत्री के आवास पर ये मीटर लगने के बाद औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना,वित्त मंत्री सुरेश खन्ना,कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के सरकारी आवासों पर ये प्रीपेड मीटर लगाए जायेंगे। बता दें सरकार की योजना के अनुसार कुछ दिनों में ऐसे प्रीपेड मीटर हर घर में लगाए जाएंगे।

क्या है प्रीपेड मीटर

इस मीटर की मदत से बिजली चोरी को रोका जा सकता है। अपने घर में बिजली पाने के लिए आपको प्रीपेड मीटर को रिचार्ज करना पड़ेगा। रिचार्ज खत्म हो जाने पर मीटर घर की बिजली को ऑटोमैटिक कट कर देगा। सरकार ने 1 अप्रेल 2019 से प्रीपेड मीटर को अनिवार्य कर दिया था साथ ही सरकार का लक्ष्य है की 2022 तक हर घर में ये मीटर लग जाये। इन मीटर की कीमत गुणवत्ता के आधार पर रखा गया है। इनकी कीमत 8 हजार से 25 हजार रूपए तक है।