बाराबंकी : दबंगई की दास्तान लिखने से पहले ही पुलिस ने दबोचा, गए सलाखों के पीछे

Police arrested before writing the story
Barabanki

बाराबंकी:। अपनी शाहखर्ची को पूरा करने के लिए जुर्म और दबंगई की राह चुनने वाले युवक आज पुलिस के हत्थे चढ़ गए और पुलिस उन्हें उनके असली मुकाम यानी जेल की सलाखों के पीछे भेजने की व्यवस्था कर दी। पकड़े गए युवकों पर दबंगई और लूट के कई मुकदमे कई थाने में दर्ज है और अपने थाने के यह टॉप के अपराधी है  पुलिस ने इनके कब्जे से लूट की लक्सरी चार पहिया गाड़ी और लूट का मोबाइल फोन बरामद कर लिया है।

इलाके में लूट और दबंगई के लिए थे प्रसिद्ध

पुलिस की गिरफ्त में खड़े इन दोनों अपराधी का नाम आनन्द सिंह और जीतेन्द्र सिंह है। यह दोनों युवक थाना सुबेहा इलाके में लूट और दबंगई के लिए प्रसिद्ध है और इनकी धमक इतनी है कि इनके जुर्म की गवाही देने के लिए कोई सामने नही आता है। इसी लिए लूट और दबंगई के कई मुकदमें होने के बावजूद यह पुलिस की पकड़ से दूर है।

पुलिस की अगर माने तो 28 अगस्त को इन दोनों ने शाह आलम नाम के सख्स से उसकी लक्सरी चार पहिया वाहन और उसका मोबाइल फोन लूट कर फरार हो गए थे । सूचना पर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए इनकी दबंगई के किस्से और मशहूर होते इससे पहले ही इन्हें दबोच लिया ।

पकड़े गए आरोपी आनन्द सिंह ने बताया कि वह पोल्ट्री फार्म चलाने का काम करता है उसने गाड़ी लूटी नही थी बल्कि माँग कर ले गया था। दुर्भावना के कारण शाह आलम ने उसे लूट का कारनामा बता दिया। जहां तक अन्य मुकदमो की बात है तो उसमें वह नही बल्कि उसके साथी पकड़े गए थे उन्ही के द्वारा उनका नाम लिखाया गया। वहीं दूसरे आरोपी जितेन्द्र सिंह ने बताया कि वह घर पर ही रहता है और उसने कोई लूट की घटना नही की और न ही उसके खिलाफ कही कोई मुकदमा है ।

संभल : भैंस ने कोतवाली में किया तांडव,दरोगा को उठा कर पटका देखें लाइव वीडियो

इस मामले के बारे में बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अरविन्द चतुर्वेदी ने बताया कि आनन्द सिंह मनबढ़ किस्म का अपराधी है और वह लूट और दबंगई की कई वारदात को अंजाम दे चुका है। अपनी शाहखर्ची को पूरा करने के लिए वह कई वारदातें कर चुका है और इसी कारण वह 28 अगस्त को शाह आलम नाम के व्यक्ति की गाड़ी दबंगई दिखाते हुए छीन कर फरार हो गए थे।

इनकी दबंगई के आगे कोई बोलने को तैयार नही था जिससे यह पुलिस से बचे रहते थे। इसके खिलाफ कई मुकदमें है। पुलिस ने इनके कब्जे से लूटी गई चार पहिया गाड़ी और मोबाइल फोन बरामद कर लिया है । अब इन्हें जेल भेजा जा रहा है। थाना सुबेहा पुलिस की पूरी टीम के उत्साह वर्धन के लिए वह पाँच हज़ार रुपये पुरस्कार की घोषणा करते हैं।

रिपोर्ट:-अजय वर्मा…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here