गुलाम नबी की संसद से विदाई पर भावुक हुए पीएम, बतायी वो बातें जिनसे सब थे अनजान

pm modi in parliament
image source - google

आज गुलाम नबी, शमशेर सिंह, मेरे मोहम्मद, नजीर अहमद का कार्यकाल पूरा हो रहा है। इस मौके पर पीएम ने कहा कि इस सदन कि शोभा बढ़ाने के लिए और अपने क्षेत्र की समस्याओं का समाधान करने के लिए अपने जो भी योगदान दिया है मै उसके लिए आपको धन्यवाद् देता हूँ।

पीएम ने कहा की मुझे चिंता है कि गुलाम नबी के बाद जो इस पद को जो संभालेंगे उनको गुलाम नबी जिसे मैच करने में बहुत दिक्कत पड़ेगी। क्योंकि वे अपने दल की चिंता करते थे लकिन देश की और अपने सदन की भी उतनी कि चिंता करते थे।

कोरोना काल में मै मीटिंग कर रहा था तभी गुलाम नबी आजाद जी का कॉल आया और उन्होंने सुझाव दिया कि मुझे सभी दलों के साथ बैठक करना चाहिए। मैंने सर्वदलीय बैठक की, ऐसा मैंने गुलाम नबी जीके कहने ओर ही किया।

महाराष्ट्र सरकार के फैसले से खड़े हुए सवाल, देश के समर्थन में ट्वीट करना क्या है गुनाह?

पीएम मोदी हुए भावुक

पीएम मोदी ने कहा कि एक बार गुजरात के यात्रियों पर जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने हमला कर दिया, क़रीब 8 लोग मारे गए। सबसे पहले गुलाम नबी जी का मुझे फोन आया, वो फोन सिर्फ सूचना देने का नहीं था। उनके आंसू रूक नहीं रहे थे।’ इस बात को बताते हुए पीएम मोदी भावुक हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here