आईपीएस अजयपाल शर्मा की बढ़ी मुश्किलें, अब इस मामले में एसआईटी करेगी जांच

IPS Ajay pal Sharma
image source - google

आईपीएस अजय पाल शर्मा पर एसआईटी का शिकंजा कसता जा रहा है। उनके खिलाफ पहले ही एक मामले में जाँच चल रही थी और अब एक और मामले में एसआईटी ने जांच शुरू कर दी है। यदि इसमें अजय पाल दोषी पाए गए तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही हो होगी।

दरअसल गुरुग्राम की एक फर्म संचालक संजय कपूर ने आईपीएस अजयपाल शर्मा पर गंभीर आरोप लगाए हैं। इसके बाद से एसआईटी ने जांच शुरू कर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

क्या है आरोप

संजय कपूर का आरोप है कि यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी ने एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के खिलाफ शिकायत की थी और आईपीएस अजय पाल शर्मा उस कंस्ट्रक्शन कंपनी के खिलाफ पैरवी कर रहे थे। इस मामले में संजय कपूर ने अजय पाल से मिल कार्यवाही करने की मांग की। लेकिन उन्होंने इस मामले में कुछ नहीं किया तो संजय कपूर ने आईजी रेंज मेरठ, एडीजी जोन मेरठ व डीजीपी से शिकायत की।

इस बात का पता जब आईपीएस अजय पाल शर्मा को चला तो बदला लेने के लिए उन्होंने संजय कपूर के खिलाफ पांच मुकदमें दर्ज करा दिए। यह मामले अवैध वसूली समेत रेप के थे। जब इन मामलों की जांच हुई तो यह झूठे पाए गए और आईपीएस अजय पाल की मुसीबतें बढ़ गयी।

रास्ते में कराया गिरफ्तार 

झूठे मुकदमे दर्ज कराने के मामले में संजय कपूर उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह से मिलने 6 नवंबर 2018 को जा रहे थे। तभी औरैया के पास रास्ते में ही आईपीएस अजय पाल शर्मा ने अपनी एक टीम भेज कर संजय कपूर को गिरफ्तार कर कसना थाने में बंद करा दिया और यहां पर उन्हें थर्ड डिग्री टॉर्चर किया गया।

यही नहीं मेडिकल कराए बिना ही उन्हें जेल भेज दिया गया और जेल में मेडिकल हुआ और उसकी रिपोर्ट भी आईपीएस अजय पाल के इशारे पर बदल दी गई। मामले को दबाने के लिए जेल में ही अपराधी से संजय कपूर को धमकी दिलाई गयी।

घरेलू मामले में भी मुकदमे दर्ज

आईपीएस अजय पाल शर्मा पर उनकी पत्नी दीप्ति शर्मा ने गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज कराए हैं। आईपीएस की पत्नी का कहना है कि 2016 में उनकी शादी अजय पाल शर्मा से हुई थी। कुछ समय बाद पता चला कि किसी लड़की के साथ उनका अफेयर है। जिसके बाद उनके रिश्ते खराब हो गए।

इस संबंध में दीप्ति शर्मा ने पुलिस विभाग, महिला आयोग, हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने बताया कि 18 सितंबर 2019 को रामपुर जिले के सिविल लाइन थाने के लोग घर आए और लैपटॉप समेत कई दस्तावेज उठा ले गए।

इस पूरे मामले की जानकारी दीप्ति शर्मा ने डीआईजी रेंज मेरठ को दी। इसके बाद फोन पर उनका झगड़ा उनके पति अजय पाल से हुआ। दीप्ति शर्मा ने बताया कि कई जगहों पर उनके खिलाफ झूठे मुकदमे अजय पाल शर्मा के इशारे पर दर्ज कराए गए और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here