मुरादाबाद : प्रशासन की लापरवाही या घूसखोरी,रातो-रात खुलेआम हो रहा अवैध खनन

illegal mining
Moradabad

मुरादाबाद:। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सत्ता की कुर्सी पर बिराजमान होते ही कुछ अहम फैसले लिए थे, जिसमें से एक था भूमाफियाओं पर नकेल कसना, इसके लिए एन्टी भूमाफिया फोर्स का गठन भी किया गया। जिसके गठन से पूरे उत्तर प्रदेश के भूमाफियाओं की नींदे उड़ गई थी। इस फोर्स ने काफी हद तक ऐसे लोगो के खिलाफ एक्शन लिया जिन्होंने सरकारी भूमियो पर अबैध रूप से कब्जा,नदियों से बालू,व जमीनों से भराब हेतु अबैध खुदाई करके करोड़ो कमा रहे थे।

ऐसा ही एक मामला जनपद की सदर तहसील के अंतर्गत आने वाली नगर पंचायत का सामने आया है। जहाँ रातो-रात चल रहे हैं दर्जनों डम्पर,डम्पर में ऑवर लोड होने पर कुछ ही दिन पहले बनी सड़क की टाईल्स जहाँ तहाँ से टूट चुकी है, लेकिन बावजूद इसके अधिशासी अधिकारी फिर भी नींद की गोली खाकर सोये हुए हैं।

रातो-रात खुलेआम हो रहा है खनन

पूरा मामला मुरादाबाद की नगरपंचायत अगवानपुर के मोहल्ला तातारपुर का है जहां घनी आबादी के बीच से शाम लगभग 8 बजे के बाद दर्जनों डम्परों से अबैध रुप से खेतों से पाइपलाइन द्वारा मिट्टी खोदकर रातो रात भराव के लिए मिट्टी ले जाई जाती है। आपको बताते चले यहाँ पर सिविल लाइन की चौकी भी मौजूद है,उसके बाद भी यहाँ से रोजाना डम्परों द्वारा मिट्टी ले जाई जाती है।

रातो-रात इस तरह से हो रहे खनन,को प्रसासन की लापरवाही कहे या घूसखोरी,क्योकि शासन ने खनन पर रोक लगा रखी है,लेकिन फिर भी रातो को खुलेआम खनन हो रहा है। जोकि रात 8 बजे से ही नगरपंचायत अगवानपुर के मोहल्ला तातारपुर में नगरपंचायत कार्यालय के सामने से ही दर्जनों डम्पर खनन ढोने शुरू कर देते हैं और सुबह 6 बजे तक अंधाधुंध चलते है।

इस कोरोना महामारी के चलते सरकार प्रदूषण से जनता को बचा तो रही है लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के चलते डम्परों से बेसुमार धूल घरो में जा रही है जिससे मोहल्ले वासियों को सांस लेने में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है उधर टाईल्स से बनी सड़क पर डम्पर ऑवर लोड लेकर चलते हैं जिससे सड़क भी बुरी तरहां टूट चुकी है।

 

आपको बताते चले पिछले सप्ताह ही अगवानपुर चौकी पुलिस द्वारा एक डम्पर को पकड़ा गया था। उसके बाबजूद भी दबंग खन्नमाफ़ियाओ के हौसले इतने बुलन्द है। जो रातो को खेतों से पाइपलाइन द्वारा मिट्टी खोद कर डम्परों के माद्यम से बहार भेज रहे हैं। और ज़िले के आला अधिकारी को इसकी खबर तक नही। अधिकारियों से इसके सम्बन्ध में जानकारी लेनी चाही तो वह कैमरे के सामने आकर कुछ भी कहने से बचते आ रहे है,तो इस तरह के अबैध खनन पर रोक किस तरह से होगी ।

रिपोर्ट:-नासिर खान…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here