नवरात्री के आठवें दिन करें माँ महागौरी का ध्यान व आरती

navratri 8th day maa mahagauri

नवरात्री के आठवें दिन माँ महागौरी की आराधना की जाती है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार सच्चे मन से माँ महागौरी की पूजा-अर्चना करने वाले साधक को सिध्दियां, धन व ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है और शारीरिक, मानसिक क्षमता में विकास होता है। तो आईये जानते है माँ महागौरी का ध्यान मंत्र और आरती।

ध्यान मंत्र

श्वेत वृषे समारूढ़ा श्वेताम्बरधरा शुचि:।
महागौरी शुभं दद्यान्महादेवप्रमोददा॥

माँ महागौरी जी की आरती

जय महागौरी जगत की माया।
जया उमा भवानी जय महामाया।

हरिद्वार कनखल के पासा।
महागौरी तेरा वहां निवासा।

चंद्रकली और ममता अम्बे।
जय शक्ति जय जय मां जगदम्बे।

भीमा देवी विमला माता।
कौशिकी देवी जग विख्याता।

हिमाचल के घर गौरी रूप तेरा।
महाकाली दुर्गा है स्वरूप तेरा।

सती ‘सत’ हवन कुंड में था जलाया।
उसी धुएं ने रूप काली बनाया।।

बना धर्म सिंह जो सवारी में आया।
तो शंकर ने त्रिशूल अपना दिखाया।

तभी मां ने महागौरी नाम पाया।
शरण आनेवाले का संकट मिटाया।

शनिवार को तेरी पूजा जो करता।
मां बिगड़ा हुआ काम उसका सुधरता।

भक्त बोलो तो सोच तुम क्या रहे हो।
महागौरी मां तेरी हरदम ही जय हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here