बंगलादेशी रोहनगियों को नागरिकता देने का मामला उजागर, मचा हड़कम्प

Rohingya Muslim citizenship
image source - google

जनपद मुरादाबाद के ब्लॉक भगतपुर टांडा इलाके में अवैध रूप से आये एक दर्जन से अधिक रोहंगिया मुश्लिमो के पहचान पत्र और वोटर लिस्ट में नाम आने के बाद हुई शिकायत का संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन ने बीएलओ को निलंबित करते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।

लेकिन इतनी बड़ी लापरवाही और घुस के बाद बने नागरिकता प्रमाण पत्रों के सामने आने के बाद से जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। जिले का कोई भी आला अधिकारी कैमरे के सामने आकर कुछ भी बताने को तैयार नही है।

क्या है पूरा मामला 

दरअसल जिला प्रशासन के सामने रुस्तमपुर तिगरी निवासी मोहम्मद नाजिर और पीर बक्श नाम के दो लोगो ने लिखित में शिकायत दी थी कि लॉकडाउन से 10 दिन पूर्व कुछ अजनबी लोग उनके गांव में आकर रहने लगे। ये पूर्व ग्राम प्रधान के यहाँ ठहरे और कुछ दिन बाद ग्राम प्रधान ने इन लोगो के पहचान पत्र सहित कई नागरिकता प्रमाण पत्र भी अवैध रूप से बनवा दिए।

वोटिंग लिस्ट में जब इन लोगो का नाम सामने आया तो स्थानीय लोगों ने भी इसका विरोध करते हुए फिर से जिला प्रशासन के सामने वोटिंग लिस्ट सहित अन्य फर्जी प्रमाण पत्रों के साथ शिकायत की गई। जिसमें एसडीएम स्तर से जांच हुई तो मामला पूरी तरह से फर्जी पाया गया और इसमें बीएलओ प्रशांत कुमार की भी भूमिका संदिग्ध पाए जाने के बाद उसे निलंबित कर दिया गया है और प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा इस प्रकरण की जांच गम्भीरता से करते हुए आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही का मूड बना लिया है।

लेकिन इतना गम्भीर मामला होने के बाद भी जनपद के कोई भी आला अधिकारी कैमरे के सामने कुछ भी बताने को तैयार नही है, इस प्रकरण को प्रशासन के सामने उजागर करने वाले मोहम्मद नाजिर और पीर बक्श ने कहा कि ये बंगलादेशी रोहनगिया आज भी उन्ही के गांव में मौजूद है वो जिला प्रशासन और प्रदेश की योगी सरकार से मांग करते है कि ऐसे लोगो को अपने यहाँ शरण देने वाले और फर्जी नागरिकता देने में सहायता करने वालो के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए।

तेज रफ्तार का कहर, बाइक पर जा रहे परिवार को मारी टक्कर

इस चर्चित प्रकरण में बीएलओ को निलंबित करने वाले बीएसए योगेंद्र चौधरी ने बताया कि इस मामले में शिकायत के बाद एसडीएम स्तर से जांच हुई थी, जिसमे 16 फर्जी वोट बनाना पाया गया , जिसके बाद मुख्य विकास अधिकारी के आदेश के बाद अध्यापक (बीएलओ) प्रशांत को निलंबित कर दिया गया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here