फर्जी एनकाउंटर मामले में फूके गए मोदी योगी के पुतले

पुष्पेंद्र यादव के फर्जी एनकाउंटर लेकर जनता में आक्रोश फैला हुआ है। पुष्पेंद्र यादव की मौत को लेकर आईआईएम चौराहे पर मोदी और योगी रूपी राक्षसों के पुतला फूंका और यह मांग की जल्द से जल्द पुष्पेंद्र यादव के हत्यारों को सज़ा हो। सभी नौजवानो ने तानाशाही सरकार मुर्दाबाद ,पुलिस की गुंडागर्दी बंद करो। भाजपा सरकार की तानाशाही नहीं चलेगी। के नारे लगा कर जल्द से जल्द हत्यारो को सजा दिलाने की मांग की है।

समाजवादी पार्टी छात्रसभा की पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूजा शुक्ला जी के नेतृत्व में आज शाम आईआईएम चौराहे पर फर्जी एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव को लेकर भाजपा सरकार व पुलिस की गुंडागर्दी के ख़िलाफ़ लाचार मुख्यमंत्री योगी जी का पुतला फूंका गया।

पुष्पेन्द्र यादव मामलें में एडीजी ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसकी मांग करते हुए कहा है कि भाजपा सरकार सत्ता के दंभ में जनता की आवाज को बूटों तले रौंदने पर उतर आई है। झांसी में पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर के बाद पुलिस द्वारा उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। अखिलेश यादव ने कहा कि पुलिस का बेहद निंदनीय रवैया यह रहा है कि पुष्पेन्द्र को न्याय देने के बजाय उलटा उनके परिजनों पर झूठे मुकदमों में फंसाया जा रहा है।

आरोप है की पुष्पेंद्र यादव द्वारा वसूली न देने पर मोठा थाने प्रभारी धर्मेंद्र सिंह ने गोली मार कर मामले को एनकाउंटर का रूप दे दिया। इतना ही नहीं जिस बाइक से पुष्पेंद्र को भागते देखा गया। उस बाइक के मालिक को भी फरार घोषित कर दिया जबकि असल मामला यह है की बाइक मालिक दिल्ली मेट्रो में तैनात सीआईएसएफ जवान रविंद्र की है। जो की इस समय ड्यूटी कर रहा है। सूत्रों की जनकारी के मुताबिक 5 अक्टूबर को एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से मुलाकात करने बुधवार को अखिलेश यादव झांसी के ग्राम करगुआ खुर्द पहुंचे थे।