विद्युत कर्मचारी पेंन्शनर वेलफेयर एसोसिएशन की हुई बैठक

google

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के लेसा भवन कैसर बाग में विद्युत कर्मचारी पेंन्शनर वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक हुई। इस बैठक के दौरान एसोसिएशन के अध्यक्ष महातम पांडे कार्यवाहक अध्यक्ष आफाक हुसैन ने पावर कार्पोरेशन के कर्मचारियों के हित में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा की व उनका स्वागत किया।

बैठक को सम्बोधित करते हुए एसोसिएशन के अध्यक्ष महातम पांडे कार्यवाहक अध्यक्ष आफाक हुसैन ने कहा है कि पावर कार्पोरेशन के सेवानिवृत्त कर्मचारियों को अस्पताल में इलाज कराने के उपरांत भुगतान किये गये पैसों का पूरा भुगतान नहीं किया जा रहा है। सेवानिवृत्त कर्मचारियों के दौड़ने व प्रयास करने उपरांत पैसे का भुगतान हो पाता है। तथा सीनियर सिटीजन का उत्पीड़न किया जा रहा है।

एसोसिएशन ने सेवानिवृत्त कर्मचारियों को कैशलेश इलाज की निशुल्क सुविधा प्रदान करने की मांग की है। इस के साथ ही उन्होंने कहा की सेवानिवृत्त कर्मचारियों की पेन्शन आयकर मुक्त की जाये। क्योंकि यह आय जीवन भर सेवा के बदले बुढ़ापे में जीविका का एक साधन बन सके।आपको बता दे की बिजली कर्मचारियों की सन 2006 में एक ही पद एक ही कार्य पर कार्यरत कर्मचारियों को 6600 का और कुछ कुछ कर्मचारियों को इससे वंचित किया गया है। जिसके कारण पेन्शनरो को आर्थिक हानि उठानी पड़ी है। इस विसंगति को दूर किया जाये एसोसिएशन ने मांग की है।

पुलिस के 70 साल पुराने हथियार पर लगी पाबंदी

ऐसोसियेशन के महामंत्री आर वाई शुक्ला ने कहा है कि वर्षों से शक्ति भवन भरष्टाचार में लिप्त अधिकारियों की जांच की फाइले डी पी सेक्शन मे लम्बित पड़ी हुई है जो फाइलें दबा दी गयी हैं। उनपर आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई हैं। उन्होंने भृष्ठाचार में लिप्त अधिकारियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही व अवैध धन से अर्जित की गयी चल अचल सम्पत्ति की जांच कराने के सरकार द्वारा मांग की है।

इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री योगी से विभागीय कर्मचारियों के सीपीएफ के 2300 हजार करोड़ रुपये व संविदा कर्मचारियों के ईपीएफ के दस हजार करोड़ के घोटाले में शामिल अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध कठोर से कठोर कार्यवाही करने की मांग की है।