मायावती का ट्वीट, निर्दोषों को रिहा कर के माफ़ी मांगे सरकार

tweet
google

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री तथा बहुजन समाज पार्टी (BSP) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने ट्वीट करके राज्य सरकार पर निशाना साधा है। प्रदेश भर में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) तथा भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के खिलाफ हिंसात्मक प्रदर्शन होने के बाद न जाने कितने ही निर्दोष लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस की इस कार्यवाई से नाराज़ मायावती ने रविवार को ट्वीट कर के पुलिस की कार्यवाई पर सवाल खड़ा किया है।

MLA ने किया CAA का समर्थन, मायावती ने किया पार्टी से बाहर

मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा है कि “यू.पी. में CAA/NRC के विरोध में किये गये प्रदर्शनों में बिना जाँच-पड़ताल के ही विशेषकर बिजनौर, सम्भल, मुजफ्फरनगर, मेरठ, फिरोज़ाबाद व अन्य और ज़िलों में भी जिन निर्दोषों को जेल भेज दिया है, जिसे मीडिया ने भी उजागर किया है, यह अति-शर्मनाक व निन्दनीय है”। उन्होंने दूसरा ट्वीट किया जिसमे कहा कि “यूपी सरकार इनको तुरन्त छोड़े व इसके लिए सरकार को अपनी गलती की माफी भी मांगनी चाहिये। साथ ही, इसमें जिन निर्दोषों की मृत्यु हो गई है, राज्य सरकार को उन परिवारों की न्यायोचित आर्थिक मदद भी जरूर करनी चाहिये। बी.एस.पी. की यह माँग है”।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि “लेकिन ऐसे में अब इस पूरे राज्य-स्तरीय प्रकरण की न्यायिक जाँच होना बहुत जरूरी है। इसकी माँग हेतु माननीया गर्वनर को एक लिखित ज्ञापन भी बी.एस.पी. प्रतिनिधिमण्डल द्वारा कल दिनांक 6 जनवरी को प्रातः 11 बजे राजभवन में दिया जायेगा”।