मौलाना ने बनाया महिला कांस्टेबल को हवस का शिकार

झाड़फूंक से इलाज व घर की सुख शांति के अंधविश्वास के चलते जहां लोग तांत्रिकों व मौलानाओं की बातों में आकर छोटे बच्चों की बली चढ़ा रहे हैं, वहीं कई महिलाएं उनकी हवस का शिकार भी बन रही हैं। उत्तर प्रदेश के जिला बागपत में एक ऐसा मामला सामने आया जिसमे एक महिला हेड कांस्टेबल अपने बेटे के इलाज व घर की सुख शांति के लिए एक मौलाना के पास गई। उस मौलाना ने महिला को एक साल तक अपनी हवस शिकार बना रखा। पीड़ित महिला मौलाना के जाल में फंस गई और यौन शोषण का शिकार एक वर्ष तक रही।

मौलाना ने महिला के अंधविश्वास का फायदा पूरा फायदा उठाया और करीब एक वर्ष तक उसके साथ दुष्कर्म किया। साथ ही इलाज के नाम पर उससे लाखों रुपये भी ऐंठ लिए। इतना ही नहीं शारीरिक संबंध न बनाने पर आरोपी मौलाना महिला को उसके बेटे की मौत की चेतावनी देकर डराता था। मौलाना से परेशान होकर पीड़िता ने उसके खिलाफ महिला थाने में दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराई है। फ़िलहाल मौलाना आरोपी फरार है। अभी तक उसका कोई पता नहीं चल पाया है।

मौलाना ने डराया फिर किया रेप

आरोप है कि मौलाना ने पीड़िता को उसके बेटे के अंदर जिन होने का हवाला देकर उसे रात के 10.30 बजे अकेला बुलाया। मौलाना ने खुद को जिन का रूप बताते हुए महिला कांस्टेबल से दुष्कर्म किया। साथ ही आगे भी ऐसा करने को कहा। इस तरह मौलाना ने उसे बेटे की मौत का डर दिखाते हुए करीब एक वर्ष तक दुष्कर्म किया। चर्चा है कि मौलाना ने पीड़िता से करीब 27 लाख रुपये भी ऐंठ लिए हैं, हालांकि महिला हेड कांस्टेबल ने इन रुपये का एफआईआर में कोई जिक्र नहीं किया है। आरोप है कि मौलाना अब घर आकर भी परेशान करने लगा, जिससे पीड़िता मानसिक रूप से परेशान रहने लगी।

उन्नाव रेप केस का खुलासा, कुलदीप सेंगर को न्यायिक हिरासत में भेजा

बेटे पर ऊपरी-हवा होने की बात कह कर बनाया हवस का शिकार

सूत्रो के अनुसार पता चला है की बिजनौर निवासी महिला वर्ष 2006 में अपने पति की मृत्यु के बाद आश्रित कोटे में कांस्टेबल के पद पर तैनात हुई थी। अब पदोन्नति के बाद वह हेडकांस्टेबल के पद पर बागपत जनपद के एक थाने में तैनात है। पिछले साल 29 जून को महिला कांस्टेबल का छोटा पुत्र सड़क हादसे में घायल हो गया था। बेटे का कई माह तक आईसीयू में इलाज भी चला। इसी दौरान किसी ने उसके बेटे पर ऊपरी-हवा होने की बात बताई, तो कांस्टेबल घबरा गई। अपने बेटे के उपचार के लिए वह 30 जुलाई 18 को शहर की मोमीन मस्जिद के मौलाना जुबैर के पास पहुंची। मौलाना ने उसके अंधविश्वास पूरा फयदा उठाते हुए महिला को अपनी हवस का शिकार बना लिया।

महिला की तहरीर पर मौलाना के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

मौलाना से परेशान होकर महिला ने पुलिस अधिकारियों को जानकारी दी। इसके बाद महिला थाने में आरोपी मौलाना जुबैर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई। पुलिस मौलाना की गिरफ्तारी के लिए लगातार कार्यवाही कर रही है। लेकिन वह अभी तक पुलिस के हाथ नहीं लगा है। इस मामले में एसपी प्रताप गोपेंद्र यादव का कहना है कि महिला की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। जल्द ही मौलाना को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।