महिलाओं के कमर दर्द के कारण

महिलाओं के कमर दर्द के कारण

महिलाओं के कमर दर्द के कारण बहुत सारे है। लेकिन इनके बारे में किसी को जानकारी नहीं होती है। तो आज हम जानेंगे कि आखिर महिलाओं के कमर दर्द के कारण क्या है और उसका उपाय क्या है। 

आज महिलाओं में कमर दर्द की शिकायत आम बात हो गयी है। लेकिन ये एक बड़ी समस्या है। जिसपर बहुत सी महिलाएं ध्यान नहीं देती है। कमर दर्द के कई तरह के कारण हो सकते है। जिनके बारे में आपको जानना जरुरी है। 

अगर इसे नजर अंदाज किया जाये तो ये समस्या गंभीर रूप भी लेती सकती है। लेकिन, अगर आप पौस्टिक भोजन और नियमित व्यायाम को अपना लें तो हो सकता है कि कमर दर्द की शिकायत ख़त्म हो जाएगी। 

महिलाओं के कमर दर्द के कारण

डॉ. साधना सिंघल, वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ, श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टीट्यूट ने बताया कि गर्भावस्था या उसके बाद महिलाओं के कमर दर्द के कारण काफी ज्यादा बढ़ सकते है। कमर दर्द का सबसे बड़ा कारण गलत तरीके से सोना और बैठना भी हो सकता है। वहीं ,लम्बे समय से अपने बच्चे को सही तरीके से बैठकर दूध पिलाने पे भी ऐसे समस्या का समना करना पड़ता है।

साथ ही साथ आपकी शारीरिक कमजोरी भी आपके दर्द का कारण बन सकती है। वहीं ,इस लिए महिलाओ को गर्भावस्था के दौरान या उसके बाद सही ढंग से सोने और बैठने का भी ध्यान देना चाहिए। इस समय काफी ज्यादा बाजार का खाने का प्रचलन चल रहा  है। जोकि, नुकसान देह है इससे बचना चाहिए। इससे उनका वजन भी बढ़ सकता है 

क्योंकि वजन बढ़ने से शरीर का सारा वजन रीढ़ की हड्डियों पर ही पड़ता है। जिसके वजह से मांसपेसियों पे अधिक दवाव पड़ने लगता हैजिसकी वजह से जोड़ो में काफी खिंचाव पैदा होता है और कमर का दर्द होना शुरू हो जाता है। महिलाओं में पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (पीआईडी) यानि प्रजनन अंगों का संक्रमण होने से भी कमर में दर्द हो सकता है।

महिलाओं की आहार शैली अनियमित होने से उन्हें कमर दर्द का होना आम बात है। उनके खाने के लिए जरुरी पोषक आहार और पोषक तत्व जैसे  कैल्शियम, विटामिन डी, आयरन आदि की कमी से भी  कमजोरी जाती है। वहीं, अनियमित मासिक धर्म की वजह से भी कमर दर्द की शिकायत हो सकती है।

कई बार अधिक खून का बहना भी इस कमर दर्द का कारण बनता  है। और आपको काफी लम्बे समय से ऐसे शिकायत है। तो आप अपने फॅमिली डॉक्टर या किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह ले सकती है। क्योंकि, ऐसा तब होता है जब आपके के शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाती है। क्योंकि विटामिन डी की कमी से भी कमर दर्द की काफी ज्यादा शिकायत देखने को मिलती है।

महिलाओं के कमर दर्द के कारण है हाई हील्स

रिसर्च में पाया गया है कि हाई हील्स की वजह से भी बहुत सी महिलाओं में कमर दर्द की समस्या होने लगती है। स्टाइलिश लुक देने वाली हील्स को पहनकर क्या एहसास होता है, ये तो आप सब बहुत ही अच्छी तरीके से जानती होंगी। हाई हील पहने से कमर दर्द के काफी मामले सामने आते है। और साथ ही में पैर में काफी ज्यादा सूजन भी रहती है। इसमें अर्थराइटिस होने का खतरा रहता है। हील्स पहनने से आपकी रीढ़ की हड्डी पर बुरा असर पड़ता है।

रीढ़ के हड्डियों पे दबाव कब पड़ता है 

महिलाओं के कमर दर्द के कारण, जब रीढ़ या स्पाइन सही अवस्था में नहीं रहती तो पीठ की मांसपेशियां, लिगमेंट्स और डिस्क पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है। मजबूत मांसपेशियां रीढ़ को उचित सीध में रखती हैं और पीठ दर्द से बचाती हैं। रीढ़ के किसी भी हिस्से पर दबाव पडऩे से पीठ में दर्द हो सकता है। यह दर्द गर्दन से लेकर कमर के निचले हिस्से तक जाता है। 

महिलाओं के कमर दर्द के मुख्य कारण

रीढ़ की हड्डी में दर्द होने के कई सारे कारण हैं। खराब जीवनशैली, उठनेबैठने का गलत तरीके, उम्र बढ़ना। सिर्फ पीठ का दर्द ही नहीं बल्कि स्लिप डिस्क जैसी समस्याएं भी होती हैं। स्टडी के मुताबिक, ऑफिस में एक ही अवस्था में गलत पोस्चर में ज्यादा समय तक बैठने से पीठ, कमर या गर्दन के दर्द से जूझना पड़ सकता है। गलत कुर्सी, टाइपिंग की गलत टेक्नीक, मॉनिटर की पॉजीशन ठीक होने, ठीक ढंग से खड़े होने या बैठने से भी पीठ का दर्द हो सकता है। 

कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाए ये सुझाव

नियमित रूप से व्यायाम करें।

खानपान पर ध्यान दें, हमेशा खाने में हरी सब्जियां और दूध जरूर लें।

गर्भावस्था के दौरान विशेष ध्यान दें।

बैठने और सोने के तरीके पर ध्यान देंना चाहिए।

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (पीआईडी) महिलाओं के प्रजनन अंगों का संक्रमण। इस दौरान डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

महिलाओं के कमर दर्द कम करने वाले कुछ घरेलू उपाय:-

हल्दी का दूध

हल्दी एक ऐसी चीज है जो अपने अनेक गुणों के चलते काफी टाइम से औषधि के रूप में इस्तेमाल की जाती रही है।  रोजाना गर्म हल्दी वाला दूध पीने पर आपको दर्द से काफी ज्यादा राहत मिल सकती है.

अदरक

गर्म पानी में अदरक (Ginger) डालकर पीना आपके लिए फायदेमंद होगा। क्योंकि अदरक में दर्द को कम करने वाले गुण होते हैं जो महिलाओं के कमर दर्द के कारण को कम करने में राहत दे सकते हैं

सिकाई

गर्म या ठंडी सिकाई करना महिलाओं के कमर दर्द के कारण के लिए बेहद ही फायदेमंद साबित होने वाला है।  दर्द अगर एक से दो दिन पुराना हो तो उन्हें ठंडी बर्फ की सिकाई करने पर राहत मिलेगी. और वहीं, दर्द थोड़ा ज्यादा पुराना हो तो उन्हें  गर्म सिकाई करनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here