उन्नाव रेप केस में लखनऊ IG प्रवीण कुमार का बयान

Google

उन्नाव रेप केस को लेकर लखनऊ के आईजी प्रवीण कुमार मीडिया से रुबरू हुए और उन्होंने पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब भी दिया। पत्रकारों ने रेप केस से जुड़े मामले को लेकर पुलिस द्वारा की जा रही कार्यवाही पर भी सवाल उठाया जिसका लखनऊ IG ने खंडन किया और मामले से जुडी कई जानकारी से अवगत कराया।

लखनऊ IG ने दिया ये बयान

लखनऊ IG प्रवीन कुमार ने अपने बयान में ये साफ़ किया की उन्नाव में पीड़िता के साथ कोई हिंसा की बात नहीँ है सिर्फ जलने के साक्ष्य हैं और हिंसा की बात को नकार दिया है।

निर्भया और हैदराबाद कांड के बाद, राष्ट्रपति ने दिया बड़ा बयान

  • उन्नाव रेप पीड़िता के चाचा को आरोपी से जान से मारने से धमकी मिल रही है, इस पर उन्होंने कहा की ”ये तथ्यों से परे है सही नहीं है और वैसे सुरक्षा की कोई डिमांड नहीं थी फिर भी पुलिस को एहतियातन लगाया गया है ।
  • शादी के प्रलोभन में उसके साथ रहना उसको लेकर जो आरोप प्रत्यारोप थे उस मामले में मुकदमा पंजीकृत हुआ था और  उसमें कार्रवाई भी की गई थी।
  • उन्होंने कहा की हर पुलिस आईपीसी ,सीआरपीसी और जो हिन्दुस्तान का कानून है उसके तहत ही कार्यवाही करती है ,और हमलोग इसी के लिए शपथ लेते हैं।
  • जीरो टॉलरेंस पॉलिसी और पूरी प्रतिबद्धता के साथ हमने पूरे प्रदेश में क़ानून व्यवस्था को बेहतर करने के लिए उल्लेखनीय कार्य किये हैं और ये आकड़ों से स्पष्ट है।
  • पोस्को एक्ट के केस में बहुत कम समय में ऐतिहासिक उत्तरप्रदेश एकलौता ऐसा राज्य है जहाँ 5 दिनों से लेकर 12 दिनों के अंदर खंडन हुआ है।
  • मुख्यआरोपी को गिरफ्तार किया गया था आईजी रेंज के स्तर से गहराई से चीजे देखीं जा रही हैं इसके अलावा जहां लर लापरवाही होगी वहां पर कार्रवाई तय की जाएगी।