पूर्व खनन मंत्री को सात दिन की आजादी, अब फिर से 14 दिन की न्यायिक हिरासत में

gayatri-prajapati
gayatri-prajapati

लखनऊ। सूबे की राजधानी लखनऊ पुलिस ने शुक्रवार देर रात पूर्व खनन मंत्री रहे गायत्री प्रजापति को एक बार फिर से गिरफ्तार कर लिया है। इस बार लखनऊ के थाना गाजीपुर पुलिस ने उन्हें धोखाधड़ी, जालसाजी और अन्य मामलो में गिरफ्तार कर हाई कोर्ट में  पेश किया। जहाँ उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

वरिष्ठ अधिकारी द्वारा बताया गया की “गुरुवार को प्रजापति के खिलाफ गाजीपुर थाने में एक नया मामला दर्ज होने के बाद उन्हें एक स्थानीय अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. उच्च न्यायालय ने प्रजापति को चार सितंबर को दो महीने की अंतरिम जमानत दी थी” .

एक सप्ताह पूर्व ही मिली थी जमानत

आपको बता दें की बीते 4 सितंबर इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने महिला से दुष्कर्म के आरोप में Gayatri Prajapati को शशर्त जमानत दी थी।मालूम हो की गायत्री प्रजापति Akhilesh Yadav government में खनन मंत्री थे और उनपर एक महिला से दुष्कर्म का आरोप था जिसके चलते वह लखनऊ जेल में कई महीनो से बंद थे।

gayatri prajapati
gayatri prajapati

 धोखाधड़ी और धमकी के आरोप में हुए गिरफ्तार

पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाने वाली महिला के पूर्व वकील दिनेश चंद्र त्रिपाठी
ने गायत्री प्रजापति के खिलाफ धोखाधड़ी और जालसाजी  करने के आरोप में  एक एफआईआर दर्ज करवाई थी। इसमें महिला के वकील ने खुद पीड़िता को भी आरोपी बनाया था।

त्रिपाठी ने रेप पीड़िता और आरोपी Gayatri Prajapati पर यह आरोप लगाया है दोनों ने आपसी लेनदेन कर गैंगरेप मामले में फरवरी 2019 को प्रजापति और अन्य सहआरोपी के पक्ष में ऐफिडेविट दाखिल करने को कहा था। जिस पर उन्होंने इसका विरोध किया तो उन्होंने त्रिपाठी को धमकी भी दी थी।

यह भी पढ़ें : अधेड़ ने 15 साल की नाबालिग से निकाह कर, कराया धर्म परिवर्तन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here