Love Aaj Kal Movie Review: लोगो को बेहद पसंद आई Karthik और sara की लव स्टोरी

google

Love Aaj Kal Movie Review: वैलंटाइंस डे यानी 14 फरवरी को Karthik और sara की फिल्म Love Aaj Kal,Karthik Aryan, Sara Ali Khan की यह फिल्म 2009 में आई फिल्म लव आजकल का सीक्वल है। इस फिल्म के दौरान मैंने काफी कुछ देखा और सीखा। अब आप भी इस फिल्म को देखने की सोच रहे होंगे लेकिन उससे पहले आपको फिल्म का रिव्यू पढ़ना जरुरी है। जिससे आप यह जान सके की यह फिल्म आपके देखने के लायक है या नहीं।

फिल्म की कहानी

आपको बता दूँ की यह फिल्म आपको नई-नई चीजों के बारे में जानकारी देती है। लव आज कल कहानी है Karthik Aryan, Sara Ali Khan की जो क्लब में मिलते हैं और फिर एक दूसरे को डेट करने लगते हैं. ये है फिल्म की मॉडर्न स्टोरी, जिसमें कई कॉम्प्लीकेशन हैं। जोई यानि सारा अपना करियर बनाना चाहती है। उसके पास रिश्तों के लिए टाइम नहीं है और वीर जिंदगी में ठहरकर एक-एक पल को पूरा जी लेने में विश्वास करता है।

इसी के साथ एक पुरानी प्रेमी कहानी भी चल रही है जो है रघुवेंद्र (कार्तिक आर्यन) और लीना (आरुषि शर्मा) की। ये बिल्कुल उन कहानियों जैसी है, जिसे सुनकर हमने प्यार करना सीखा है. लेकिन इसमें भी अपनी अलग परेशानियां हैं। जोई अपने करियर और रिश्ते में बैलेंस नहीं कर पा रही और उसे अपनी जिंदगी में अभी बहुत कुछ देखना बाकी है. वहीं उसका एक दोस्त (रणदीप हुड्डा) उसे अपनी प्रेम कहानी सुना रहा है, जिससे वो अपने रिश्ते को तोल रही है। हां, यही कॉम्प्लीकेशन इस फिल्म की कहानी है। अब जोई और वीर की कहानी का क्या होगा और उस पुरानी कहानी का क्या होगा यही फिल्म में देखने वाली बात है।

कुछ खास नहीं थी परफॉर्मेंस

इस फिल्म में बॉलीवुड की सबसे पॉपुलर जोड़ी में से एक सारा अली खान और कार्तिक आर्यन को लिया गया है। लोगों को इन दोनों से उम्मीद तो बहुत होंगी लेकिन इन दोनों ने इस फिल्म में कुछ खास कमाल किया नहीं है। ये कहानी जोई की है तो पहले उस पर ही बात करते हैं। चुलबुली, जल्दी से बहक जाने वाली, करियर को अपना नंबर वन प्यार बनाकर रखने वाली लड़की जोई के किरदार में सारा अली खान आपको सारा कम और करीना कपूर खान ज्यादा लगेंगीं।

जोई हर बात पर परेशान रहती है। उसमें गुस्सा है, इंसिक्योरिटी है और पैशन भी है, लेकिन फिर भी उसमें कुछ ऐसा है जो आपको अच्छा नहीं लगेगा, और वो है सारा अली खान की एक्टिंग. सारा इस किरदार में जान डालने की कोशिश कर रही हैं लेकिन ऐसा हो नहीं पा रहा. इसलिए वो पर्दे पर खड़ीं बस आपको तंग कर रही हैं।

Isaimini.com 2020 : Download full hd Latest Bollywood, Hollywood,Tamil Movies and TV Serial

यहां कार्तिक आर्यन के दो रूप देखने को मिलेंगे आपको। एक तरफ वो 90s के रघुवेन्द्र हैं और दूसरी तरफ 2020 के वीर। मुझे 2020 का वीर पसंद आया क्योंकि वैसे लोग आज के समय में कम ही मिलते हैं। 90s का रघुवेन्द्र आइडल लवर से शुरू होकर कहीं और ही पहुंच जाता है, जो अच्छा तो बिल्कुल नहीं है।

अब करते हैं एक्टिंग की बात. दोनों ही किरदारों में कार्तिक आर्यन ने बहुत जगह ऐसी एक्टिंग की है जैसे वो दिमागी रूप से हिले हुए हैं। लेकिन जैसे-जैसे फिल्म आगे बढ़ती है उनका काम थोड़ा बेहतर होता है. हिमाचल में दिखाया गया कार्तिक आर्यन वाला सीक्वेंस अच्छा है। उनकी एक्टिंग सारा अली खान से थोड़ी बेहतर थी।

इस फिल्म से आरुषि शर्मा ने अपना बॉलीवुड डेब्यू किया है। उनका काम अच्छा है. हालांकि उन्होंने भी ज्यादा कमाल नहीं किया। उनके किरदार की डिमांड के हिसाब से आरुषि ने सही काम किया है। फिल्म लव आज कल में एक और किरदार है। जिसे ट्रेलर में नहीं दिखाया गया था और वो है रणदीप हुड्डा. रणदीप वो 90s के रघुवेन्द्र का बड़ा हो चुका वर्जन हैं, जो जोई को अपनी प्रेम कहानी सुना रहा है। इसके अलावा फिल्म में जोई की मां के किरदार में सिमोन सिंह हैं, जिन्होंने अच्छा काम किया है।

जाने कैसा है फिल्म का डायरेक्शन

इम्तियाज अली के दिमाग में ये वाली लव आज कल बनाने का जबरदस्त आईडिया जरूर आया होगा लेकिन वो इस फिल्म से कुछ नहीं कर पाए. एक हद से ज्यादा उलझी हुई कहानी, एक बैकड्रॉप में चलती कहानी और पुराने गानों के नए वर्जन निकालकर अगर फिल्में बनाई जाने लगीं तो फिर जनता को इम्तियाज अली स्टाइल का सिनेमा देखने को कैसे मिलेगा?

साल 2009 में आई लव आज कल को देखिए तो आपको बहुत कुछ फील होगा यहां आप बस पूरा समय सोचते हैं कि ये चल क्या रहा है। फिल्म अपनी स्पीड पकड़ती है और फिर आगे चलकर इतनी स्लो हो जाती है कि उसे झेलना मुश्किल होने लगता है. इम्तियाज अली वो डायरेक्टर हैं, जिन्होंने हमें रॉकस्टार का रणबीर कपूर दिया, जो अपने आप में अलग है। किसी को समझ नहीं आया लेकिन हर बार एक अलग, नया सा इंसान लगता है। लेकिन लव आज कल में वैसा कुछ नहीं है।

इस फिल्म की सिनेमेटोग्राफी अच्छी है। फिल्म का म्यूजिक भी अच्छा है। हां मैं गलत और शायद जैसे गाने आपको पसंद आएंगे। बैकग्राउंड स्कोर भी ठीक है। इसमें आपको 2009 वाली लव आज कल के गाने दूरियां का नया वर्जन सुनने को मिलेगा, जो इतना बुरा भी नहीं है। लेकिन फिर भी आप थिएटर से बाहर आकर पुरानी वाली फिल्म के गाने जरूर सुनना चाहेंगे. कम से कम मैंने तो यही किया है। वैलेंटाइन वीक है और थिएटर में अभी भी इससे बेहतर रोमांटिक फिल्में चल रही हैं। तो अगर आपको लव आज कल ना भी देखो तो चलेगा।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here