लखीमपुर खीरी: कोरोना का असर ईद पर, महंगाई की वजह से कम हुई बिक्री व…

Eid 2021
Image source Google

यूपी के लखीमपुर खीरी जिले में विश्वव्यापी कोरोना महामारी का संक्रमण लगातार फैलता ही जा रहा है, कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने अपनी दहशत फैला रखी है, इसकी रोकथाम के लिये सरकार द्वारा लगाये गये आशिंक लाॅकडाउन व कोरोना की गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करने के बावजूद भी कोरोना से होने वाली मौंतो का सिलसिला लगातार जारी है।

दूसरी ओर सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सभी धर्म स्थलों पर भी पूर्ण रूप से पाबंदी लगा दी गई है। देखा जाये तो जहां एक ओर कोरोना की मार ने सभी के सारे काम धंधे चौपट कर दिये हैं तो वहीं बढ़ती मंहगाई ने सभी के कमर तोड़ कर रख दी है, जिसका सीधा असर बीते दिन होने वाले ईद के पर्व पर भी पड़ा है।

बता दें की लखीमपुर खीरी जिले में कोरोना काल में हुई महंगाई ने भी आमजन पर काफी प्रभाव डाला है। जिसको देखते हुए शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय का ईद का पर्व भी कोरोना काल की भेंट चढ़ गया है, वहीं इस दौरान ईद के पर्व पर मुख्य रूप से घरों में बनाई जाने वाली सिवइयां और सूत फैनी की बिक्री भी ना के बराबर हुई हैै।

महंगाई की वजह से बिक्री कम

सिवईयां और सूतफेनी की बिक्री कर रहे दुकानदारों ने बताया कि कोरोना की वजह से सिवई बनाने के उपयोग की जाने वाली हर चीज दोगुनी महंगी हो गई है। जिसके चलते समय सिवईयों के दाम भी आसमान छू रहे हैं और बढ़ती महंगाई की वजह से जहां पहले लोग 2 किलो से 5 किलो तक सिवईया लेकर जाते थे।

लेकिन महंगाई की वजह से अब केवल ढाई सौ ग्राम या आधा किलो सीमा ही की खरीदारी कर रहे हैं,पहले जहां सिवईयां चालीस से पचास रूपये किलो बिक रही थी, वहीं अब डेढ़ गुनी कीमत से सिंवई बेचना पड़ रहा है और लोग महंगाई की वजह से खरीदारी नहीं कर रहें हैं ।

तो वहीं दूसरी ओर ईद के पर्व को लेकर जहां प्रशासन के नुमाइंदे शहर के पेश इमामों और मौलानाओं के साथ बैठक कर कोरोना की गाइड लाइन का पालन करने की बात कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर जिले के मस्जिदों के पेश इमाम ईद के पर्व को कोरोना की गाइडलाइन का पालन करते हुए आमजन से ईद मनाने की अपील करते नज़र आ रहे हैं।

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में सामने आए सिर्फ इतने मामले, क्या जल्द खुलेगा लॉकडाउन?

उन्होने अपील करते हुए कहा कि शासन का आदेशनुसार मस्जिदों में कोरोना जैसी बीमारी से लोगों की हिफाजत के लिए मस्जिदों में ईद की नमाज नहीं की जाएगी। जिससे लोग अपने घरों में रहकर ही ईद की नमाज अदा करें और इसमें भी सोशल डिस्टेंसिंग का खास ख्याल रखें, ज्यादा भीड़ भाड़ ना जमा करें मास्क लगाएं और अपने घरों में ही रहकर ईद का पर्व मनाए और अल्लाह से वबा से निजात दिलाने के लिये दुवायें करें और उन्होने यहभी बताया की हमने नमाज पढ़ने का तरीका भी सभी को बता दिया है, जिससे कि लोग घरों में नमाज अदा कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here