एसपी से मुलाकात नहीं होने से गुस्साए अधिवक्ताओं ने राष्ट्रीय राजमार्ग को किया जाम

Advocates blocked road
image source - google

आज पडरौना कुशीनगर के स्थित जिला एवं सत्र न्यायालय अधिवक्ताओं ने बुधवार को जिला एवं सत्र न्यायालय के सामने राष्ट्रीय राजमार्ग 28 बी को जाम कर दिया। अधिवक्ताओं द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम करने की सूचना मिलने के बाद पुलिस प्रशासन में खलबली मच गई।

जबकि मौके पर कोतवाली पडरौना प्रभारी अनुज कुमार सिंह मौके पर पहुंचकर अधिवक्ताओं को लाख मनाने का प्रयास तो किया लेकिन उनके मनाने पर अधिवक्ता नही माने और लगभग घंटो सड़क को जाम रखा है। मामला जिले के थाना कसया क्षेत्र में हुवे लूट से जुड़ा हुवा है जहाँ दिन दहाड़े एक अधिवक्ता के घर पर लुटेरों ने एक बड़ी घटना को अंजाम दिया है रिपोर्ट देखिए।

क्या है पूरा मामला 

मिली जानकारी के अनुसार जिले के कसया दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता संजय सिंह के कसया स्थित मकान में मंगलवार की सुबह में दिनदहाड़े लगभग 25 लाख की लूट हो गई। उस वक्त अधिवक्ता और उनका परिवार कहीं बाहर गया हुआ था लौटने के बाद अधिवक्ता को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी। लेकिन 24 घंटे बीतने के बाद भी पुलिस द्वारा घटना का खुलासा नहीं किया गया।

अधिवक्ता के घर दिनदहाड़े लूट की वारदात के सम्बन्ध में जिला एवं सत्र न्यायालय पडरौना व कसया दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता गण बुधवार की सुबह पुलिस अधीक्षक कुशीनगर विनोद कुमार सिंह से मिलने पहुंचे। बार एसोशिएशन के पदाधिकारियों के अनुसार एसपी ऑफिस पहुंचने के बाद वहां सादा वर्दी में मौजूद एक महिला ने अधिवक्ताओं को एसपी से मिलने से रोक दिया और कहा कि अगर पता चलेगा कि अधिवक्ता मिलने आए हैं तो वह नहीं मिलेंगे। अधिवक्ताओं के अनुसार इस महिला ने कहा साहब आप लोगों से नहीं मिल सकते।

इस बात से नाराज होकर अधिवक्ताओं ने वापस आकर जिला एवं सत्र न्यायालय के सामने राष्ट्रीय राजमार्ग 28 जाम कर दिया। अधिवक्ताओं द्वारा सड़क जाम कर धरने पर बैठने की सूचना मिलने के बाद जिला प्रशासन हलकान हो गया और पडरौना कोतवाली प्रभारी अनुज कुमार सिंह मौके पर पहुंचकर अधिवक्ताओं को मनाने का प्रयास करने लगे लेकिन अधिवक्ता मानने को तैयार नहीं थे।

नैसकॉम टेक्नोलॉजी एंड लीडरशिप फोरम में पीएम ने कही ये खास बातें

घंटों सड़क जाम होने के बाद पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार सिंह ने जब बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों से फोन पर बातचीत की और उनसे जल्द ही घटना का खुलासा करने आश्वासन दिया तब जाकर अधिवक्ताओं ने सड़क पर चल रहे धरने को समाप्त किया। इस दौरान बार एसोसिएशन कुशीनगर के जिला महामंत्री त्रिपुरारी मिश्रा ने कहा कि पुलिस प्रशासन अपनी मनमानी कर रहा है।

एनएच 28 बी को किया गया जाम 

जिससे जनता एकदम परेशान है, उन्होंने कहा कि पुलिस चौकी से मात्र 100 मीटर की दूरी पर स्थित एक अधिवक्ता के घर में दिनदहाड़े लाखों की लूट हो जाती है और पुलिस को इसकी भनक भी नहीं लगती या घटना पुलिस की नाकामी को दर्शाता है। बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने पुलिस प्रशासन को चेताते हुए कहा कि अगर 24 घण्टे के अंदर घटना का खुलासा नहीं होता है तथा अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होती है तो पुनः बृहस्पतिवार को जिला एवं सत्र न्यायालय के सामने सड़क जाम कर धरना किया जाएगा।

इस दौरान अगर किसी प्रकार की अनहोनी होती है इसकी सारी जिम्मेदारी कुशीनगर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन की होगी। विदित हो कि अधिवक्ताओं द्वारा सड़क जाम करने से घण्टों तक दोनों तरफ लंबा जाम लगा रहा।

जिला एवं सत्र न्यायालय के सामने अधिवक्तों ने एनएच 28 बी को किया जाम। एक महिला पुलिसकर्मी द्वारा एसपी से नही मिलने देने से अधिवक्ताओं ने महिला पुलिसकर्मी के खिलाफ कारवाही की मांग कर रहे थे। लगभग एक घंटे बाद एसपी के टेलीफोनीक वार्ता के बाद अधिवक्ताओं ने जाम को समाप्त किया। कल दिन दहाड़े कसया कस्बे में अधिवक्ता के घर में हुई भीषड चोरी के मामले में को लेकर एसपी से मिलने गये थे। अधिवक्ता जिला मुख्यालय रविन्द्रनगर स्थित जिला एंव सत्र न्यायालय के सामने का पूरा मामला है।

केंद्रीय मंत्री: राहुल गांधी इटली से बाहर निकल नहीं पाते, उन्हें बता दूंगा कि…

वहीं अधिवक्ता संघ के अध्ययक्ष ने कहा कि पुलिस अधीक्षक ने अभी टेलीफोनिक वार्ता से हम लोगो की समस्या सुनने के लिए बुलाया है और दो दिनों के अंदर हुवे लूट का खुलासा करने का आश्वाशन मिला है अगर लुटेरों की गिरफ्तारी दो दिन में नही तो हम सभी अधिवक्ता तीसरे दिन इसी nh 28 b को पुनः जाम करेंगे जिसकी सारी जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी।

रिपोर्टर – मु0 उमर अन्सारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here