जानिए क्यों बढ़ रही है प्याज की कीमत

google

देशभर में प्याज की बढ़ती कीमत को लेकर सभी बहुत परेशान है। फिर चाहे वो आमिर हो या गरीब सभी की जुबान पर एक ही सवाल है की आखिर प्याज की कीमत इतनी ज्यादा क्यों बढ़ती जा रही है। हलांकि प्याज ही नहीं उसके साथ ही सभी सब्जियों की कीमत बढ़ गई है। लेकिन इस साल प्याज की कीमत ने तो आसमान छू लिया है। इतनी महंगी प्याज कभी नहीं हुई जितनी महंगी इस बार हो गई है। हालाँकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ की प्याज की कीमत बढ़ी हो।प्याज की कीमत ने तो सच में इस साल सभी को रुला दिया है।

इन कारणों से बढ़ा है प्याज का दाम 

आँकड़ो के हिसाब से कर्नाटक और महाराष्ट्र में प्याज की सबसे ज्यादा पैदावार होती है। बताया जा रहा की इस वर्ष अक्टूबर से नवम्बर के बीच में भारी वर्षा के कारण काफी ज्यादा प्याज की फसल नष्ट हो गई है। जिसके चलते सिर्फ प्याज की कीमते ही नहीं बड़ी बल्कि प्याज का निर्यात भी भारतीय सरकार द्वारा बंद कर दिया गया है। सूत्रों के हिसाब से जो खबर आ रही है उसमे ये कहा जा रहा है की भारत अन्य देशो से प्याज आयात करने की सोच रहा है।

बढ़ते दामों के कारण प्याज कारोबारियों पर देश भर में छापे

जनता लगा रही है सरकार पर आरोप 

आपको बता दे की दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया है। कि सरकार ने स्टॉक से प्याज नहीं निकाला है। यही कारण है कि प्याज की कीमत बढ़ती जा रही है। इसके अलावा समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता अब वाराणसी में प्याज बेचने की तैयारी में हैं। दूसरी ओर कांग्रेस भी सरकार से इस मुद्दे पर सवाल पूछ रही है। इतना ही नहीं देशभर की मंडियों में प्याज की आपूर्ति बढ़ाने की तमाम कोशिशों के बावजूद इसकी कीमतों में वृद्धि का सिलसिला जारी है।

क्या सरकार को ऐसा करना चाहिए ?

दोस्तों आप को इन सारी चीजों को मद्देनजर रखते हुए क्या लगता है? की भारत सरकार को अपनी नीतियों में बदलाव करना चाहिए ?आपको बता दे की भारत के लगभग 15 राज्यों में प्याज की खेती होती है। जब की 50 प्रतिशत से भी ज्यादा प्याज की खेती महाराष्ट्र और कर्नाटक में होती है।

क्या लगाई जा सकती है प्याज के दामों में लगाम ?

तो क्या आपको नहीं लगता की सरकार को अपनी नीतियों में बदलाव करके प्याज की पैदावार को बाकि राज्यों में जहाँ पर महाराष्ट्र और कर्नाटक के अपेक्षा कम वर्षा होती है। उस स्थान पर प्याज की खेती को बढ़ावा देना चाहिए। जिससे हमें आगे चलकर ऐसी स्थितियों का समना न करना पड़े। प्याज के दाम हर वर्ष बढ़ते जा रहे है। इस नीति से हर वर्ष बढ़ रहे प्याज के बढ़ते दामों पर लगाम लगा सकते है।